यूपी विधानसभा सत्र: हंगामें के बीच योगी सरकार ने पेश किया 8479 करोड़ का अनुपूरक बजट

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर सभी राजनीतिक पार्टियां तैयारियों में जुटी हुई हैं। इसी बीच शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन गुरुवार को योगी सरकार ने विपक्ष के हंगामे के बीच विधानसभा में 8479.53 करोड़ रुपये का दूसरा अनुपूरक बजट (सप्लीमेंट्री बजट) पेश किया। इस दौरान वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने वित्तीय वर्ष 2022-23 के पहले चार महीनों (अप्रैल से जुलाई) के लिए 1,68,903.23 करोड़ रुपये का लेखानुदान पेश किया।

सदन की कार्यवाही शुरू होते ही नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी ने चंदौली और लखीमपुर खीरी की घटना को लेकर चर्चा कराने की मांग की। जिसके बाद समाजवादी पार्टी के सदस्यों ने हंगामा शुरू कर दिया। साथ ही कांग्रेस के विधायक भी वेल में आकर हंगामा कर रहे थे। उधर, संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना ने सदन में अनुपूरक बजट पेश किया।

अनुपूरक बजट और लेखा अनुदान पेश करने के बाद संसदीय कार्य एवं वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने यूपी माल और सेवा कर संशोधन अध्यादेश 2021, यूपी मोटरयान कराधान संशोधन अध्यादेश 2021, अधिवक्ता कल्याण निधि संशोधन अध्यादेश 2021 समेत कई अध्यादेश भी सदन में प्रस्तुत किया।

राज्य सरकार ने इस बजट में प्रदेश के युवाओं, महिलाओं और किसानों को महत्व देते हुए उनके लिए नई योजनाओं का ऐलान किया है। वहीं, किसानों को साधने के लिए योगी सरकार ने केंद्र की तर्ज पर किसान सम्मान निधि की तरह एक नई योजना भी शुरू की है, जिसका आगामी विधानसभा चुनाव में भाजपा को किसानों की ओर से एक बड़ा फायदा मिल सकता है। अनुपूरक बजट की सबसे खास बात यह कि असंगठित क्षेत्र के मजदूरों को सरकार ने भत्ता देने की व्यवस्था की है। इसके लिए 4000 करोड़ रुपये की हुई व्यवस्था की गई है।

इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में आहूत कैबिनेट की बैठक में अनुपूरक बजट को मंजूरी प्रदान की गई।

ये हैं अनुपूरक बजट

1. योगी सरकार ने 8479.53 करोड़ का अनुपूरक बजट पेश किया।

2. असंगठित क्षेत्र के मजदूरों को सरकार भत्ता देगी, 4000 करोड़ रुपये की हुई व्यवस्था।

3. योगी सरकार दिव्यागों का अनुदान बढ़ाएगी। बजट में 167 करोड़ की व्यवस्था। बुजुर्ग और किसान पेंशन भी बढ़ेगी। 670 करोड़ रुपये का इंतजाम।

4. योगी सरकार यूपी गौरव सम्मान शुरू करेगी, अनुपूरक बजट में 10 करोड़ का इंतजाम किया गया है।

5. चुनावी मौके पर सूचना विभाग का बजट भी 150 करोड़ रुपये बढ़ा।

6. प्रदेश में 24 घण्टे बिजली आपूर्ति के लिए पावर कारपोरेशन को 10 अरब की धनराशि

7. हर घर बिजली योजना के लिए अलग से 185 करोड़

8. खेल विभाग को अनुपूरक बजट में 10 करोड़

9. काशी विश्वनाथ धाम के लिए 10 करोड़

10. किसान और वृद्धावस्था पेंशन के लिए 670 करोड़

11. सूचना विभाग को 150 करोड़ आवंटित किये गये हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button