ओमिक्रॉन को हल्का समझने की भूल न करें, WHO ने दी ये चेतावनी

दुनियाभर में कोरोना के मामले लगातार तेजी से बढ़ रहे हैं। इस बढ़ते मामलों को देखते हुए डब्ल्यूएचओ के प्रमुख टेड्रोस एडहानो घेब्रेसिएसस ने चेतावनी दी है। उन्होंने कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रोन को बहुत घातक बताया है। उन्होंने ओमीक्रोन से होने वाले संक्रमण को कम असर बताने को भ्रामक बताते हुए कहा है कि इसे हल्का समझने की की भूल ना करें।

खबरों के अनुसार दुनियाभर में कोरोना मामलों के बढ़ने के बीच डब्ल्यूएचओ के प्रमुख टेड्रोस एडहानो ने बताया कि वैश्विक कोरोना वायरस केस लोड 333.5 मिलियन से ऊपर है, जबकि मौतें 5.55 मिलियन से अधिक हो गई हैं और इसके साथ ही टीकाकरण 9.68 बिलियन से अधिक हो गया है। भारत में बुधवार को पिछले 24 घंटों में 2,82,970 ताजा कोविड मामलों की सूचना दी, जो पिछले दिन की गिनती से 18 फीसदी से अधिक की बढ़ोतरी है।

उन्होंने कहा कि ओमिक्रोन वैरिएंट दुनियाभर में अस्पताल में भर्ती और मौतों का कारण बन रहा है और लोग यह कहानी बना रहे हैं कि यह एक हल्की बीमारी है, जो भ्रामक तथ्य है। उन्होंने यह भी कहा कि ओमिक्रोन औसतन कम गंभीर हो सकता है लेकिन इस कम संक्रामक और हल्का बताना भ्रामक है, जिसके परिणामस्वरूप अधिक नुकसान पहुंचाने के साथ अधिक अधिक लोगों की मौत हो सकती है। टेड्रोस के अनुसार, कोविड बहुत तेजी से फैल रहा है और कई लोग इसकी चपेट में हैं।

डब्ल्यूएचओ जोर देते हुए कहा कि कई देशों के लिए अगले कुछ सप्ताह स्वास्थ्य व्यवस्था के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। उन्होंने कहा कि ओमिक्रोन सहित कोविड-19 वायरस का हर वैरिएंट खतरनाक है और गंभीर बीमारी, मौत, म्यूटेशन के कारण कारण बन सकता है। इससे लड़ने के लिए हमारे पास मौजूद उपकरणों से इसके खतरे को कम करना है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button