कट गया स्वामी प्रसाद मौर्य का वारंट, कोर्ट ने दिया गिरफ्तारी का आदेश

लखनऊ। बीते दिन यानी मंगलवार को जहां विधानसभा चुनावों की तारीख की घोषणा होने के बाद भाजपा विधायक स्वामी प्रसाद मौर्य के इस्तीफा देने की खबर सामने आई और इसे भाजपा के लिए बड़ा झटका माना जा रहा था। वहीं ताजा जानकारी ने इस पूरे मामले का रुख ही पलट कर रख दिया है।

खबर यह है कि धार्मिक भावनाओं को भड़काने और भड़काऊ भाषण देने के कारण स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट जारी कर दिया गया है। मतलब यह हुआ मानों भाजपा का दामन छोड़ते ही स्वामी पर मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा।

खबरों के मुताबिक़ मौर्य के खिलाफ एमपीएलए कोर्ट ने स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया है. कोर्ट ने उनको आगामी 24 जनवरी तक पेश होने का आदेश दिया है। 

इससे पहले जब यह खबर आई थी कि स्वामी प्रसाद ने भाजपा से इस्तीफा दे दिया है तो इसे भाजपा के लिए बड़ा झटका बताया जा रहा था। साथ ही यह भी कहा जा रहा था कि मुमकिन है कि भाजपा से अलग होने के बाद मौर्य सपा का दामन थाम लें।

वहीं उनके कई समर्थकों ने भी यह कहते हुए सपा ज्वाइन करने की बात कही थी कि यदि स्वामी प्रसाद सपा में जाते हैं तो हम भी उनके साथ सपा में शामिल हो जाएंगे।

यह भी जानकारी है कि स्वामी ने राज्यपाल को सौंपे गए अपने इस्तीफे में यह कहते हुए भाजपा से अगल होने की बात कही थी कि माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के मंत्रिमंडल में श्रम एवं सेवायोजन व समन्वय मंत्री के रूप में विपरीत परिस्थितियों व विचारधारा में रहकर भी बहुत ही मनोयोग के साथ उत्तरदायित्व का निर्वहन किया है।

किंतु दलितों, पिछड़ों, किसानों बेरोजगार नौजवानों एवं छोटे-लघु एवं मध्यम श्रेणी के व्यापारियों की घोर उपेक्षात्मक रवैये के कारण उत्तर प्रदेश के मंत्रिमंडल से मैं इस्तीफा देता हूं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button