तीसरे चरण के मतदान के बीच वायरल हो रहा ‘सपा मंच’ का वीडियो, देखें जनता रिएक्शन

नई दिल्ली। यूपी में 20 फरवरी, रविवार को यूपी विधानसभा चुनाव के तहत तीसरे चरण का मतदान जारी है। लोग सुबह से ही उत्साह में हैं और मतदान केन्द्रों में लागतार भीड़ बढ़ती जा रही है। इसी बीच लोगों के बीच सोशल मीडिया में एक वायरल वीडियो भी खूब चहलकदमी मचा रहा है। यह वीडियो देखने से साफ पता चल रहा है कि यह सपा की किसी चुनावी सभा का वीडियो है, लेकिन यह कब और कहां लिया गया, इस बात की कोई स्पष्ट सूचना अभी सामने नहीं आई है।

हां, यह जरूर है कि चुनावी माहौल के बीच इस वीडियों के वायल होने पर, लोग इसे जमकर ट्रोल कर रहे हैं और अलग-अलग रिएक्शन दे रहे हैं।

खबरों के मुताबिक़ रविवार को भारतीय जनता के पार्टी (उत्तर प्रदेश) के प्रवक्ता आईपी पटेल ने ट्विटर से इस वीडियो को शेयर किया है। इस वीडियो में साफ दिखाई दे रहा है कि समाजवादी पार्टी की सभा में मंच पर चढ़ने के लिए सपा कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए हैं और बात धक्का-मुक्की तक पहुंच गई है।

वीडियो को शेयर करते हुए आईपी पटेल (प्रशांत उमराव) ने ट्विटर पर लिखा कि ये समाजवादी पार्टी की सभाओं के हाल हैं, सपाइयों को जब कोई और नहीं मिलता तो आपस में ही जुतमपैर कर लेते हैं!

हालांकि, वायरल हो रहा ये वीडियो कहां का है इसके बारे में कोई आधिकारिक जानकारी तो नहीं है, लेकिन यह मलीहाबाद का बताया जा रहा है। जहां सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य सभा को संबोधित करने पहुंचे थे।

इस वीडियो को देखने के बाद सोशल मीडिया पर अब लोग अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। पीपल पॉलिटिक्स नाम के यूजर ने लिखा कि अरे मूर्ख इसे मंच प्रबंधन कहते हैं। कोई रोकेगा नहीं तो सब मंच पर चढ़ जाते है और बहुत बार मंच टूट जाता है। भीड़ मे धक्का मुक्की तो होती ही है।

आनंद गुप्ता नाम के यूजर ने लिखा कि यह है समाजवादी गुंडागर्दी, उत्तर प्रदेश की जनता कृपया ध्यान से देखिए यह भीड़ में खुद काबू में नहीं होते हैं, कहीं भी अराजकता फैला सकते हैं। विपक्ष में होने पर यह दशा है तो सत्ता में आने पर जनता को कीड़ा समझ कर मसलने की कोशिश करेंगे।

उत्कर्ष भारतीय नाम के यूजर ने लिखा कि कभी समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता आपस में लड़ते हैं, तो कभी उन्हीं के कार्यकर्ता प्रचार तो उनका करते हैं लेकिन वोट देते हैं किसी और को। समाजवादी पार्टी की हालत बद से बदतर होती जा रही है अब तो। विकास शर्मा नाम के यूजर ने लिखा कि भेज दिया जाए इनको संसद में? राघवेन्द्र वर्मा नाम के यूजर ने लिखा कि जब ये अपने ही लोगों को नहीं बक्श रहे तो सरकार आने पर हमारे साथ क्या होगा? ये बताने के लिए शब्दों की जरुरत नहीं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

three × three =

Back to top button