महात्मा गांधी के खिलाफ अपशब्दों का प्रयोग करना ‘धर्मगुरु’ को पड़ा भारी, केस दर्ज

नई दिल्ली। हाल ही में छत्तीसगढ़ की राजधानी जयपुर में एक ‘धर्म संसद’ का आयोजन किया गया था। इस धर्म संसद में इस्तेमाल किए गए तीव्र और तीखे भाषणों को लेकर इन दिनों माहौल काफी गरमा गया है। दरअसल इस ‘धर्म संसद’ में धर्मगुरु कालीचरण ने गांधी जी को लेकर अपशब्दों का प्रयोग किया था, जिसका वीडियो तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। इसके बाद लोगों ने इस वायरल वीडियो की कड़ी निंदा की। फिर क्या था… चुनावी तैयारियों के बीच इस वीडियो पर सियासत का खेल शुरू हो गया। मामले के तूल पकड़ने पर धर्मगुरु कालीचरण के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है।

खबरों के मुताबिक़ बापू के लिए अपशब्दों का इस्तेमाल करने की वजह से कालीचरण के खिलाफ मामला दर्ज हो गया है। छत्तीसगढ़ में ही टिकरापारा क्षेत्र में अपराध क्रमांक 578/2021 धारा 505(2), 294 IPC के तहत मामला दर्ज किया जा चुका है। संत कालीचरण के खिलाफ रायपुर के पूर्व महापौर और वर्तमान सभापति प्रमोद दुबे ने शिकायत दर्ज कराई थी।

दरअसल, रायपुर के रावण भाटा मैदान में आयोजित दो दिवसीय कार्यक्रम के समापन दिवस पर बोलते हुए, कालीचरण ने कहा, “इस्लाम का लक्ष्य राजनीति के माध्यम से राष्ट्र पर कब्जा करना है। हमारी आंखों के सामने उन्होंने 1947 में कब्जा कर लिया था।

कालीचरण ने आगे कहा था कि उन्होंने पहले ईरान, इराक और अफगानिस्तान पर कब्जा कर लिया था। उन्होंने राजनीति के माध्यम से बांग्लादेश और पाकिस्तान पर कब्जा कर लिया था। मैं नाथूराम गोडसे को सलाम करता हूं कि उन्होंने मोहनदास करमचंद गांधी की हत्या की।

बता दें कि महाराष्ट्र के मंत्री और एनसीपी नेता नवाब मलिक ने भी कालीचरण पर तंज कसा है। उन्होंने लिखा कि बापू के कातिल अबतक जिंदा हैं, जिसके लिए वे शर्मिंदा हैं। वहीं कांग्रेस समेत दूसरे दलों के नेता भी कालीचरण की तीखी आलोचना कर रहे हैं।

रायपुर की धर्म संसद से ही जुड़ा एक वीडियो शेयर करते हुए नवाब मलिक ने लिखा, ‘सत्य, अहिंसा को झूठ और हिंसक कभी हरा नहीं सकते, बापू हम शर्मिंदा हैं तेरे कातिल जिंदा हैं।’

जो वीडियो नवाब मलिक ने शेयर किया वह महंत राम सुंदर का बताया जा रहा है। महंत इस वीडियो में कालीचरण द्वारा इस्तेमाल किए गए शब्दों की निंदा करते हुए खुद को धर्म संसद से अलग कर लेते हैं, जिसके लिए उनकी तारीफ हो रही है।

इससे पहले कांग्रेस नेता संजय निरूपम ने तल्ख शब्दों का इस्तेमाल करते हुए अपने ट्विटर अकाउंट से लिखा था, ‘यह भगवाधारी फ्रॉड राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को सरेआम गालियां दे रहा है, इसे तत्काल अंदर करना चाहिए। गांधी जी से किसी को वैचारिक मतभेद हो सकता है, पर उनका अपमान करने का हक किसी को नहीं है। यह अक्षम्य अपराध है।’

वहीं आम आदमी पार्टी से राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने भी अपनी कड़ी प्रतिक्रिया दर्ज कराई थी। AAP ने ट्विटर पर लिखा है, ये कौन है जो हमारे राष्ट्रपिता को गाली दे रहा है? मोदी जी कुछ करेंगे या इनको भी सिर्फ़ “दिल से माफ़ नही कर पाएंगे।”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button