यूपी : ‘संकल्प पत्र’ के वादों को पूरा करने की तैयारी में जुटे आलाअधिकारी, मंथन जारी

लखनऊ। भले ही सीएम पद से योगी आदित्यनाथ ने इस्तीफा दे दिया है और दोबारा सीएम पद की शपथ में थोड़ा समय बाकी है, यूपी के आला अधिकारियों ने योगी की दूसरी पारी के तैयारियां शुरू कर दी हैं। सभी अधिकारीयों के साथ बैठक कर मुख्य सचिव इस बात पर मंथन कर रहे हैं कि चुनावों से पूर्व योगी द्वारा किए गए वादों में से कौन से ऐसे वादे हैं, जिन्हें त्वरित रूप से अमल में लाया जा सकता है। वहीं उन वादों को भी पॉइंट आउट किया जा रहा है, जिन्हें पूरा करने में एक से दो महीनों का वक्त लग सकता है।

खबरों के मुताबिक़ मुख्य सचिव दुर्गाशंकर मिश्र ने शासन के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की। इसमें चुनावी वादे के मुताबिक पीएम उज्जवला योजना की सभी पात्र लाभार्थियों को पहला मुफ्त रसोई गैस सिलेंडर होली पर देने, 60 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं के लिए सार्वजनिक परिवहन में मुफ्त यात्रा की व्यवस्था तथा मेधावी छात्राओं को स्कूटी देने की योजना के क्रियान्वयन से जुड़ी कार्रवाई पर विचार-विमर्श हुआ।

बैठक में शामिल एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मुख्य सचिव ने संकल्प पत्र के प्रत्येक बिंदु का अध्ययन कर टाइमलाइन तय कर क्रियान्वयन का निर्देश दिया है। संकल्प-पत्र के ऐसे बिंदुओं की पहचान की जानी है, जिन पर तुरंत कार्य प्रारंभ किया जाना है।

इसके अलावा ऐसे बिंदु जिन पर अगले एक माह में कार्य प्रारंभ किया जाना है, चिह्नित करने को कहा गया है। जिन बिंदुओं पर कुछ समय बाद कार्य शुरू किया जा सकता है, उनकी अलग सूची तैयार होगी।

अधिकारी ने बताया कि भाजपा ने संकल्प-पत्र में कॉलेज जाने वाली मेधावी छात्राओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए रानी लक्ष्मीबाई योजना के अंतर्गत मुफ्त स्कूटी वितरित करने का वादा है। इसके लिए मेधावी की परिभाषा तय कर इस संबंध में भी तैयारी का निर्देश दिया गया।

वहीं पीएम उज्जवला योजना के समस्त लाभार्थियों को होली तथा दीपावली पर दो मुफ्त एलपीजी सिलेंडर देने का वादा किया है। योगी सरकार की प्रचंड जनादेश के साथ दोबारा वापसी के बाद पहली होली 17-18 मार्च को पड़ रही है। ऐसे में इस वादे पर अमल की तत्काल तैयारी का निर्देश दिया गया।

बता दें, प्रदेश में करीब 1 करोड़ उज्जवला लाभार्थी बताए गए हैं। इस पर करीब 1000 करोड़ रुपये खर्च आने का अनुमान है। यह कब दिया जाए, इस पर निर्णय मुख्यमंत्री से विचार-विमर्श कर किया जाएगा। इसी तरह भाजपा ने 60 वर्ष की महिलाओं के लिए सार्वजनिक परिवहन में मुफ्त यात्रा की व्यवस्था का वादा किया है। परिवहन विभाग को इस संबंध में प्रस्ताव तैयार करने को कहा गया है। इसी तरह संकल्प पत्र के अन्य बिंदुओं पर भी विचार-विमर्श हुआ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

14 + 20 =

Back to top button