यूपी चुनाव : गठबंधन ऐलान के साथ भाजपा ने भरी हुंकार… ‘फिर एक बार 300 पार’

नई दिल्ली। भाजपा ने काफी मंथन करने के बाद इस बात का ऐलान कर दिया है कि आगामी विधानसभा चुनावों में भाजपा अपने सहयोगी दलों के साथ मिलकर यूपी में 403 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। वहीं इसी के साथ यह भी जानकारी सामने आ रही है कि सीटों के बटवारे को लेकर भी भाजपा ने सभी सहयोगी दलों के साथ बातचीत फाइनल कर ली है। ऐसे में इस बात की उम्मीद जताई जा रही है कि जल्द ही भाजपा सीटों के बटवारे को लेकर उम्मीदवारों की सूची आधिकारिक रूप से जगजाहिर कर सकती है। हालांकि, अभी पार्टी ने केवल अपना शक्ति प्रदर्शन करते हुए अपने पुराने सहयोगी दलों अपना दल और निषाद पार्टी के साथ गठबंधन की बात स्वीकार की है और पूर्ण बहुमत से सत्ता में वापसी की हुंकार भरी है।

खबरों के मुताबिक़ पार्टी की तरफ से अपने सहयोगी दलों के साथ मिलकर एक साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस की गई है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में संजय निषाद भी शामिल रहे हैं और अनुप्रिया पटेल ने भी अपने विचार रखे हैं। अभी तक पार्टी की तरफ से 107 सीटों पर उम्मीदवारों का ऐलान किया जा चुका है।

इस दौरान बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने बताया है कि यूपी चुनाव में बीजेपी अपना दल और निषाद पार्टी के साथ मिलकर चुनाव लड़ने जा रही है। उन्होंने विश्वास जताया है कि अपने सहयोगी दलों के साथ मिलकर यूपी में फिर कमल खिलाया जाएगा और बीजेपी की सरकार बनेगी। उन्होंने इस बात पर खुशी जाहिर की है कि पिछले पांच सालों में यूपी में हर पहलू पर काफी काम हुआ है। कानून व्यवस्था सुधरी है और सबका साथ सबका विश्वास के मंत्र के साथ आगे बढ़ा गया है।

वैसे अपनी पहली लिस्ट में भी बीजेपी ने हर सियासी समीकरण का पूरा ध्यान रखा था। ओबीसी समाज पर भी नजर रही और जाटों को भी साधने का प्रयास रहा। बीजेपी ने 68 फीसदी सीटें ओबीसी, एससी और महिलाओं के लिए आवंटित की हैं। 44 सीटें ओबीसी, 19 सीटें एससी और 10 सीटों पर महिलाओं को टिकट दिया गया है। इस सब के अलावा बीजेपी की पहली दो सूची में सवर्ण वर्ग को 40 टिकट मिले हैं, ठाकुर -18, ब्राह्मण – 10, वैश्य -8, त्यागी – 2, कायस्थ- 2 रखे गए हैं।

ऐसे में कहा जा रहा है कि एक लंबे मंथन के बाद बीजेपी फिर अपने पुरानी साथी अपना दल और निषाद पार्टी के साथ चुनावी मैदान में उतरने जा रही है। सीट शेयरिंग को लेकर बातचीत हो चुकी है, हर रणनीति पर काम कर लिया गया है, अब कुछ ही दिनों में औपचारिक ऐलान कर दिया जाएगा। अपना दल के संजय निषाद ने जानकारी दी है कि सीट शेयरिंग को लेकर सबकुछ फाइनल कर लिया गया है। लेकिन उनके मुताबिक मंथन कभी भी सीटों को लेकर नहीं होता है, मंथन तो हमेशा सिर्फ जीत का होता है। उनकी तरफ से इस बात पर भी जोर दिया गया कि बीजेपी ने अपने वादों को पूरा किया है, उन्होंने जो कहा वो करके दिखाया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button