यूपी : गुटखा व्यापारी के घर पहुंचे CGST अधिकारी सन्न, बरामद नकदी इतनी… बुलाने पड़े ट्रक

लखनऊ। दोबारा यूपी में योगी सरकार के एक्शन और अपराधियों और माफियाओं पर नकेल की ख़बरें हर दिन सुर्ख़ियों में बनी रहती हैं। मगर, एक मामला ऐसा भी है, जिसने शासन से लेकर प्रशासन तक को हैरान कर दिया है। मामला है, उत्तर प्रदेश के हमीरपुर का। जहां एक गुटखा व्यापारी के घर जब सेन्ट्रल गुड्स सर्विस टैक्स की टीम ने छापेमारी की तो इतनी नकदी मिली, जिसकी किसी ने कल्पना भी नहीं की थी। आलम ये हुआ कि बरामद की गई नकदी को गिनने में केवल रात से सुबह और फिर सुबह से रात हो गई। इतना ही नहीं बैंक में इस नकदी को जमा कराने के लिए अधिकारियों को कई ट्रक मंगवाने पड़े।

खबरों के मुताबिक़ सुमेरपुर कसबे में थाने के पास रहने वाले गुटखा व्यापारी जगत गुप्ता के यहां सेन्ट्रल गुड्स सर्विस टैक्स की टीम ने छापेमारी की थी। 15 सदस्यीय टीम द्वारा छापेमारी की यह कार्यवाही 12 अप्रैल की सुबह 6 बजे से शुरू हुई थी, जो 13 अप्रैल की शाम तक चलती रही। रात होते-होते बैंक कर्मी रुपयों को रखने वाले बड़े-बड़े तीन ट्रंक भी लेकर पहुंचे थे। ट्रंक को रुपयों से भर कर स्टेट बैंक हमीरपुर भेजा गया है।

फिलहाल यह अंदाजा लगाया जा रहा है कि व्यापारी ने जीएसटी डॉक्यूमेंट में जो हेराफेरी की है वह अलग है, बक्सों में भरा रुपया ही करोड़ों में आंका जा रहा है।

वहीं सेन्ट्रल गुड्स सर्विस टैक्स की टीम के साथ आये डिप्टी कमिश्नर ने सिर्फ इतना बताया की उनको जॉइंट कमिश्नर ने सर्च वारंट दिया था, उसके तहत कार्यवाही हुई है।

इस छापेमारी के दौरान गुटखा व्यापारी के यहां से 6 करोड़ 31 लाख 11 हजार आठ सौ रुपये बरामद किया गया। खास बात है कि इन पैसे को गुटखा कारोबारी ने बेड बॉक्स के अंदर रखा था। बताया जा रहा है कि इनको गिनने के लिए स्टेट बैंक के कर्मचारी तीन मशीनें और बड़े-बड़े ट्रंक लेकर आये थे। करीब 18 घंटे की गिनती के बाद रुपयों को ट्रंकों में भर कर ले गए हैं। टीम के साथ आये डिप्टी कमिश्नर ने कुछ भी बोलने से इनकार किया है। उन्होंने सिर्फ इतना बताया कि जॉइंट कमिश्नर ने सर्च वारंट दिया था, उसी पर यह कार्यवाही की गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

two × 1 =

Back to top button