यूपी बोर्ड की परीक्षा शुरू, सीएम योगी ने दी बच्चों को शुभकामनाएं

लखनऊ। यूपी बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं गुरुवार को शुरू हो गयी हैं। परीक्षार्थियों की संख्या की दृष्टि से विश्व की सबसे बड़ी परीक्षा में 51 लाख से ज्यादा परीक्षार्थी पंजीकृत हैं। इसकी निगरानी सीसीटीवी कैमरे की मदद से की जा रही है। पहले दिन हिन्दी की परीक्षा है। यह दो पालियों में हो रही है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने परीक्षार्थियों को शुभकामनाएं दी हैं। तो अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा अराधना शुक्ला ने केन्द्रों का निरीक्षण किया और बच्चों को फूल देकर उनका हौसला भी बढ़ाया।

अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा अराधना शुक्ला से गुरुवार को प्रथम पाली की परीक्षा के दौरान परीक्षा केन्द्रों का निरीक्षण किया। लखनऊ में वह टीम के कई सेंटर्स पर गईं। जुबली इंटर कॉलेज में भी उन्होंने व्यस्थाओं का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने बच्चों को फूल देकर उनका हौसला भी बढ़ाया। उन्होंने बोर्ड के सभी अधिकारियों को नकल विहीन परीक्षा कराने के लिए निर्देश भी दिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्यारे विद्यार्थियों यूपी बोर्ड की 10वीं व 12वीं कक्षा की परीक्षाएं आरम्भ हो गई हैं। सभी परीक्षार्थी पूर्ण एकाग्रता के साथ बिना किसी तनाव के परीक्षा में शामिल हों। आपका परिश्रम अवश्य फलीभूत होगा व निश्चित ही सुखद परिणाम प्राप्त होंगे। मेरी शुभकामनाएं आपके साथ हैं।

इस बार की परीक्षा, 51 लाख 92 हजार 689 परीक्षार्थी शामिल हो रहे हैं। कोरोना संक्रमण काल के कारण करीब दो वर्ष बाद हो रही परीक्षा में परीक्षार्थियों के साथ यूपी बोर्ड के कर्मियों की भी परीक्षा हो रही है। वर्ष 2021 में कोविड संक्रमण के कारण बोर्ड की परीक्षाएं नहीं कराई गई थी, सभी परीक्षार्थियों को अगली कक्षा में प्रोन्नत किया गया था।

सभी परीक्षा केंद्रों की निगरानी के लिए हर कक्ष में सीसीटीवी कैमरे, वायस रिकार्डर के माध्यम से माॅनिटरिंग करने के लिए डीवीआर के साथ राउटर लगाए गए हैं। जिला मुख्यालयों के साथ ही राज्य स्तर पर कंट्रोल रूम बनाया गया है। 12 अप्रैल तक होने वाली इस परीक्षा में नकल रोकने के कड़े इंतजाम भी हैं।

बोर्ड परीक्षाओं में पहली बार साफ्टवेयर के माध्यम से केंद्र व्यवस्थापक, वाह्य केंद्र व्यवस्थापक व वाह्य कक्ष निरीक्षकों की तैनाती की गयी है। ताकि परीक्षा में पारदर्शिता व शुचिता बनी रहे। कुल एक लाख 37 हजार 084 परीक्षा कक्षों में दो लाख 74 हजार 168 कक्ष निरीक्षकों की तैनाती की गयी है, जिसमें 50 प्रतिशत वाह्य कक्ष निरीक्षक हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

18 − four =

Back to top button