यूपी चुनाव से पहले सपा-बसपा और कांग्रेस के कई नेता भाजपा में हुए शामिल

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के लखनऊ में भाजपा कार्यालय में उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के सामने समाजवादी पार्टी, बहुजन समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के 5 नेताओं ने भाजपा का दामन थामा। इसमें बसपा के पूर्व दर्जा प्राप्त मंत्री बृजमोहन सिंह कुशवाहा, समाजवादी पार्टी की पूर्व विधायक रश्मि आर्या और कांग्रेस के पूर्व विधायक दलजीत सिंह शामिल हैं। दोनों नेता बांदा के रहने वाले हैं।

पार्टी के प्रदेश कार्यालय पर उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और प्रदेश उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह की मौजूदगी में इन सभी नेताओं ने सदस्यता ग्रहण की। इस मौके पर उपमुख्यमंत्री ने कहा कि सपा के गुब्बारे से हवा निकलने वाली है। यह नई सपा नहीं है। सपा की जो हालात 2014, 2017 और 2019 में हुई है, उससे भी खराब हालत 2022 में होगी। सपा किसानों की विरोधी पार्टी है। सपा सरकार में गन्ना मूल्य का भुगतान नहीं होता था। किसानों को मुआवजा नही मिलता था। भाजपा की सरकार ने 36 हजार करोड़ का कर्ज किसानों का माफ किया। पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों के बैंक खाते में धनराशि भेजी जा रही है। किसानों के खाते में एक लाख 60 हजार करोड़ भेजे जा चुके हैं। हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसानों से माफी तक मांग लेते हैं।

उन्होंने कहा कि गरीब कल्याण के बारे में समाजवादी पार्टी कभी नहीं सोच सकती। सपा सिर्फ गुंडों और माफिया के लिए काम करती है। यह दंगाई और माफिया को टिकट दे रहे हैं। जनता उन्हें 2022 में बहुत करारा सबक सिखाएगी। अखिलेश यादव किसान हितैषी होने का दावा कर रहे हैं लेकिन उन्होंने अपनी सरकार में किसानों के लिए कुछ भी नहीं किया। तमाम दलों के साथ सपा के गठबंधन पर केशव मौर्य ने कहा कि अगर सभी विपक्षी दल एक हो जाएं तो भी भाजपा 300 से अधिक सीटें जीतने जा रही है। उनके साथ नेता हैं लेकिन भाजपा के साथ जनता है।

ये हुए भाजपा में शामिल

कांग्रेस के पूर्व विधायक दलजीत सिंह, झांसी से सपा की पूर्व विधायक रश्मि आर्या, चित्रकूट के बसपा नेता बृजमोहन कुशवाहा, भारतीय जनवादी पार्टी के नेता सतेंद्र चौहान और सपा नेता सुरभि ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button