बुल्डोजर एक्शन की खबर से साउथ दिल्ली में बेचैनी, रेहड़ी दुकानदार जल्बाजी में हटा रहे सामान

नई दिल्ली। बीते दिन ही इस बात की जानकारी सामने आई थी कि हनुमान जयंती के दिन सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद जो दिल्ली में अतिक्रमण हटाने का अभियान रोक दिया गया था, उसे फिर से शुरू करने की तैयारी है। इसी कड़ी में गुरुवार को साउथ दिल्ली में SDMC (साउथ दिल्ली मुंसिपल कॉरपोरेशन) ने जानकारी दी कि जसोला इलाके में अतिक्रमण हटाने का काम आज से शुरू किया जाना है, जिसके बाद साउथ दिल्ली के शाहीन बाग़ में अफरा-तफरी मच गई। आलम ये हो चला कि लोग खुद ही सड़कों पर फैलाया हुआ अपना-अपना सामान हटाने में जुट गए।

खबरों के मुताबिक़ बुल्डोजर एक्शन का डर शाहीन बाग में साफ देखने को मिल रहा है। वहां फर्नीचर बाजार में अफरातफरी का माहौल है। फर्नीचर बाजार में दुकानदार खुद ही ऐसा सामान हटा रहे हैं जो आमतौर पर दुकानों के बाहर सड़क पर रहता है। बता दें कि SDMC ने आज ही बताया था कि जसोला इलाके में सामान्य अतिक्रमण विरोधी अभियान चलाया जाना है। शाहीन बाग जसोला के पास ही पड़ता है।

SDMC के इस एक्शन को दिल्ली पुलिस की तरफ से झटका लगा है। सरिता विहार के SHO राकेश कुमार ने SDMC को पत्र लिखकर बताया है कि दिल्ली पुलिस के जवानों की पहले से दूसरी जगहों पर तैनाती है, जिसकी वजह से वह अतिक्रमण हटाने वाले एक्शन के लिए आज सुरक्षा बल की अतिरिक्त तैनाती सरिता विहार में नहीं कर पाएंगे। यह भी कहा गया है कि ऐसे अतिक्रमण विरोधी अभियान के लिए SDMC कम से कम 10 दिन पहले जानकारी दे।

बता दें कि SDMC ने आज अतिक्रमण विरोधी अभियान चलाने की जानकारी दी है। इसमें SDMC के अधिकारी शामिल होंगे। यह भी बताया गया था कि सड़कों पर अवैध पार्किंग और अवैध रेहड़ी-पटरी विक्रेताओं पर यह एक्शन होगा। कहा गया था कि SDMC के मेयर इस कार्रवाई के दौरान वहां मौजूद नहीं रहेंगे और वहां कोई तोड़फोड़ और कोई स्पेशन अभियान नहीं चलाया जाएगा।

SDMC को यह सफाई इसलिए देनी पड़ी थी क्योंकि दक्षिणी दिल्ली नगर निगम के मेयर मुकेश सुर्यन ने कहा था जहांगीरपुरी के बाद अब साउथ दिल्ली के इलाकों में बुलडोजर चलेगा। इसमें उन्होंने कहा था कि शाहीन बाग में सरकारी जगहों पर अतिक्रमण है। इसके अलावा सरिता विहार, कालिंदी कुंज में लोगों ने कॉलोनी काट कर अवैध कब्जा किया हुआ है। मेयर ने कहा था कि एक सर्वे किया गया था, जिसकी रिपोर्ट आने के बाद अब कार्रवाई की जाएगी। कहा गया था कि ये सर्वे सरिता विहार, जैतपुर और मदनपुर खादर इलाके में हुआ था। SDMC के मेयर ने यह भी आरोप लगाया था कि रोहिंग्या व बांग्लादेशियों ने बहुत जगहों पर कब्जा किया हुआ है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

4 × five =

Back to top button