सपा नेता पर भारी पड़ी नीरज बोरा की सादगी, दो टूक में समझाई ‘जीत की गणित’

लखनऊ यूपी विधानसभा के चुनाव परिणाम सामने आए चार दिन हो चुके हैं। भाजपा की जीत का जश्न पूरे प्रदेश में मानाया जा रहा है। मगर, भाजपा की यह जीत विपक्षियों को तनिक भी रास नहीं आई। इसका अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि चुनावों के परिणाम सामने आने के बाद लखनऊ उत्तर की सीट से सपा प्रत्याशी पूजा शुक्ला का बड़ा बयान सामने आया, जिसमें उन्होंने भाजपा से उत्तरी सीट जीतने वाले डा। नीरज बोरा पर तरह-तरह से आरोप लगाए। इतना ही नहीं उन्होंने तो जनादेश को भी मानने से भी इनकार कर दिया।

उन्होंने कहना था कि शुरुवाती 20 राउंड तक उन्होंने करीब 20 हजार मतों की बढ़त बनाई हुई थी, लेकिन कुछ देर के लंच के बाद आखिर ऐसा क्या हो गया, जो एकदम से भाजपा के पक्ष में वोट होने लगे और मैं हार गई।

ऐसे में जब इस बाबत डा। नीरज बोरा से बात की गई तो उन्होंने बिना किसी आवेश के बड़े ही अराल लहजे में जवाब दिया, कि वे अभी नई हैं और पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ी थीं। इसलिए उन्हें नहीं मालूम की उत्तरी सीट की हवा और इतिहास क्या है।

इसके बार डा। बोरा ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई का नाम लेते हुए कहा कि जिस वक्त उत्तरी सीट से अटल जी चुनाव लड़ा करते थे, उस वक्त भी ऐसा ही नतीजे सामने आते थे।

शुरुआती चरणों में उस वक्त भी भाजपा के पक्ष में कम वोट पड़ते थे और जैसे-जैसे मतों की गिनती आगे बढ़ती भाजपा के मतों की संख्या बढ़ती जाती और अंत में भाजपा ही विजय होती।

उन्होंने कहा कि ठीक ऐसा ही साल 2017 के चुनावों में भी हुआ था और साल 2022 यानी वर्तमान में भी।

यही वजह है कि पूजा शुक्ला समझ नहीं पाई कि 20वें राउंड के बाद अचानक भाजपा के पक्ष में मतों की संख्या क्यों बढ़ने लगी। अगर, उन्हें इस बारे में जानकारी होती तो मुमकिन है, वे कभी भी इस तरह का बेतुका बयान नहीं देतीं।  

बता दें कि सपा प्रत्याशी पूजा शुक्ला ने अपनी हार का ठिकरा ईवीएम पर फोड़ा था। एक समाचार चैनल से खास बातचीत करते हुए पूजा शुक्ला ने आरोप लगाया था कि लखनऊ डीएम ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को खुश करने के लिए मुझे हरा दिया और बीजेपी के उम्मीदवार को जिता दिया।

उन्होंने कहा था कि मुझे खुशी है कि समाजवादी पार्टी ने एक गरीब की बेटी को धन से मजबूत और झूठे मक्कारों के खिलाफ चुनाव मैदान में उतारा और जनता ने मुझे अपना समर्थन दिया। मैं मानती हूं कि भारतीय जनता पार्टी को ईवीएम ने जीत दी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

2 × one =

Back to top button