यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्र को लाने के लिए एयर इंडिया का विमान रवाना

यूक्रेन संकट के बीच फंसे हजारों भारतीय छात्र अपने बचाव और यहां से निकाले जाने का इंतजार कर रहे हैं। इस बीच 470 से अधिक भारतीय छात्रों को रोमानिया के रास्ते यूक्रेन से निकालने की तैयारी है।

एयर इंडिया के एक विमान ने रूस के आक्रमण के चलते यूक्रेन में फंसे भारतीयों को स्वदेश लाने के वास्ते रोमानिया की राजधानी बुखारेस्ट के लिए शनिवार सुबह मुंबई हवाईअड्डे से उड़ान भरी।

वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों का कहना है कि उड़ान संख्या एआई1943 ने तड़के करीब तीन बजकर 40 मिनट पर मुंबई हवाईअड्डे से उड़ान भरी और उसके भारतीय समयानुसार सुबह करीब दस बजे बुखारेस्ट हवाईअड्डे पर पहुंचने की संभावना है।

खबरों के अनुसार अधिकारियों ने बताया कि एयर इंडिया के दो विमान शुक्रवार रात रवाना होंगे। अधिकारियों ने कहा कि एयर इंडिया की दो उड़ानें शनिवार को बुखारेस्ट से भारत के लिए रवाना होंगी। यूक्रेन में भारतीय दूतावास ने शुक्रवार को कहा कि वह रोमानिया और हंगरी से निकासी के लिए काम कर रहा है।

यूक्रेन स्थित दूतावास ने भारतीय यात्रियों को पासपोर्ट, नकद, अन्य आवश्यक वस्तुओं और कोविड-19 टीकाकरण प्रमाण पत्र को सीमा चौकियों पर ले जाने की सलाह दी।

दूतावास ने कहा है कि भारत का राष्ट्रीय ध्वज का प्रिंट आउट लें और यात्रा के दौरान वाहनों और बसों पर प्रमुखता से चिपकाएं। अधिकारियों ने कहा कि लगभग 20,000 भारतीय, मुख्य रूप से छात्र, वर्तमान में यूक्रेन में फंसे हुए हैं।

यूक्रेन की राजधानी कीव और रोमानियाई सीमा चौकी के बीच की दूरी लगभग 600 किलोमीटर है और इसे सड़क मार्ग से तय करने में साढ़े आठ से 11 घंटे लगते हैं।

बुखारेस्ट रोमानियाई सीमा जांच बिंदु से लगभग 500 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है और सड़क मार्ग से दूरी को कवर करने में सात से नौ घंटे लगते हैं। कीव और हंगेरियन सीमा चौकी के बीच की दूरी लगभग 820 किलोमीटर है और इसे सड़क मार्ग से तय करने में 12-13 घंटे लगते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

eight − one =

Back to top button