‘फरवरी में अपने चरम पर होगी कोरोना की तीसरी लहर, हर दिन आएंगे 8 लाख मरीज’

नई दिल्ली। कोरना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन के आने के बाद अब देश में कोरोना की तीसरी लहर का असर देखने को मिल रहा है। अब तक देश में कोरोना की रफ्तार थमने का नाम नहीं ले रही है। बीते 24 घंटे में देशभर में 1 लाख 79 हजार 723 नए मामले सामने आए हैं। इस दौरान 146 लोगों की मौत हो गई है। भारत में अभी 7 लाख 23 हजार 619 एक्टिव केस हैं। पॉजिटिविटी रेट भी 13.29 प्रतिशत पहुंच गई है। साथ ही ओमिक्रॉन के मरीजों का आंकड़ा भी 4 हजार पार कर गया है। 24 घंटे में ओमिक्रॉन के 4 हजार 33 नए मरीजों की पुष्टि हई है। ऐसे में विशेषज्ञों का मानना है कि फरवरी महीने में देश में तीसरी लहर अपने चरम पर देखने को मिल सकती है।

खबरों के मुताबिक़ विशेषज्ञों का मन्ना है कि देश में तीसरी लहर का पीक आने पर रोजाना 4 से 8 लाख केस दर्ज होने की आशंका है। उनका कहना है कि दिल्ली और मुंबई में तीसरी लहर का पीक 15 जनवरी को आ सकता है।

बता दें, यह दावा IIT कानपुर के मैथमैटिक्स और कंप्यूटर साइंस के प्रोफेसर मनिंद्र अग्रवाल ने किया है। वे कंप्यूटर मॉडल की मदद से बताते हैं कि महामारी आगे कैसा बर्ताव करने वाली है। उनका यह भी कहना है कि 15 मार्च के आसपास देश में तीसरी लहर पार होने की संभावना है।

इंडियन एक्सप्रेस को दिए गए इंटरव्यू में प्रोफेसर अग्रवाल ने बताया कि मुंबई में तीसरी लहर का पीक लगभग 15 जनवरी को आएगा। ठीक ऐसा ही दिल्ली में भी होगा। उन्होंने कहा कि हमारे पास पूरे देश के आंकड़े नहीं हैं, लेकिन शुरुआती कैलकुलेशन बताती है कि फरवरी की शुरुआत में देश में तीसरी लहर का पीक आ सकता है। हमारा अंदाजा है कि पीक पर रोजाना देश में 4 से 8 लाख केस दर्ज होंगे।

दिल्ली और मुंबई में जितनी तेजी से ग्राफ ऊपर उठा है, उतनी ही तेजी से इसके नीचे गिरने की संभावना है। पूरे देश में कोरोना के केस तेजी से बढ़ रहे हैं। इस हिसाब से देश में एक महीने में पीक आ जाएगा और मार्च मिडिल तक देश में तीसरी लहर खत्म हो जाएगी या कम हो जाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button