चुनावी माहौल बिगाड़ने की थी कोशिश! सरकार ने चलाया SFJ के ऐप्स-वेबसाइट्स पर चाबुक

नई दिल्ली। देश में जारी विधानसभा चुनावों की निष्पक्षता को बनाए रखने के उद्देश्य से सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने कुछ एप्स, वेबसाइट्स और सोशल मीडिया अकाउंट्स के खिलाफ कार्रवाई की है। बताया जा रहा है कि इन सभी प्लेटफार्म पर शक था कि इसके माध्यम से चुनावी माहौल को बिगाड़ने की कोशिश की जा रही है। वहीं देश में विधानसभा चुनाव अभी जारी हैं। ऐसे में सुरक्षा और चुनावी निष्पक्षता के नजरिए से इस कदम को काफी अहम और जरूरी बताया जा रहा है। बता दें, इससे पहले भारत सरकार ने पिछले हफ्ते ही चीन से जुड़े करीब 54 ऐप पर प्रतिबंध लगाया है।

खबरों के मुताबिक़ मंत्रालय ने प्रतिबंधित संगठन सिख फॉर जस्टिस से जुड़े ऐप्स, वेबसाइट्स और सोशल मीडिया खातों को बंद करने के आदेश दिए हैं। रिपोर्ट में बताया जा रहा है कि पांच राज्यों में जारी विधानसभा चुनाव के दौरान चैनल ने सार्वजनिक व्यवस्था को बिगाड़ने का प्रयास किया था।

इससे पहले भारत ने बीते सोमवार को चीन से संबंध रखने वाले 54 मोबाइल ऐप को सुरक्षा एवं निजता से जुड़ी चिंताओं के आधार पर प्रतिबंधित कर दिया, जिनमें टेंसेंट एक्सराइवर, नाइस वीडियो बायडु, वीवा वीडियो एडिटर और गेरेना फ्री फायर इल्युमिनेट भी शामिल हैं।

बता दें, प्रतिबंधित किए गए 54 चीनी ऐप ने कथित तौर पर उपयोगकर्ताओं से अहम मंजूरियां हासिल कर उनसे संवेदनशील जानकारियां जुटाईं। ये ऐप उपयोगकर्ताओं से जुटाई गई जानकारियों का दुरुपयोग कर रहे थे और उसे विरोधी देश में स्थित सर्वरों को भेज रहे थे।

प्रतिबंधित किए गए ऐप देश की अखंडता एवं संप्रभुता को खतरे में डालने वाली गतिविधियों में कथित तौर पर लिप्त पाए गए थे। इनसे देश की सुरक्षा के लिए गंभीर खतरा पैदा होने की आशंका पाई गई।

जानकारी है कि सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने इन 54 ऐप को प्रतिबंधित करने के लिए अंतरिम निर्देश जारी कर दिए हैं। मंत्रालय को इस बारे में गृह मंत्रालय से सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 69ए के तहत पाबंदी लगाने का अनुरोध मिला था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

1 + 12 =

Back to top button