Trending

स्क्रीन पर कुछ और, ज़मीन पर कुछ और है तालिबान (Taliban), तालिबानियों ने लगाई भारत से आयात निर्यात पर रोक

हाइलाइट्स

  • महिलाओं और बच्चों पर हमले
  • महिला गवर्नर को किया कैद
  • हज़ारा नेता की प्रतिमा तोड़ी
  • भारत से आयात निर्यात बंद

अफगानिस्तान पर कब्ज़े के बाद तालिबान (Taliban) ने मीडिया के सामने कई बड़े-बड़े बोल बोले। लोगों की आज़ादी से लेकर महिलाओं-बच्चों की हक़ और सुरक्षा तक, इन सभी मुद्दों पर तालिबान ने आश्वाशन दिए थे लेकिन वास्तव में अफगानिस्तान की स्थिति इससे बिल्कुल अलग देखी जा सकती है। इन सभी घटनाओं से यह तो साफ़ है कि तालिबान की बातों पर भरोसा करना बेहद मुश्किल है।

यह भी पढ़ें- लखनऊ : रेडियोधर्मी (radioactive) पदार्थ ‘कलिफोर्नियम’ के साथ 8 संदिग्ध गिरफ्तार l

महिलाओं और बच्चों पर हमले
तालिबान (Taliban) ने मीडिया से जुड़कर स्थानीय लोगों से तालिबान के नए शासन से न डरने का आग्रह किया था। तालिबान ने महिलाओं को उनके हक़ वाजिब रूप से देने के लिए भी कहा था। लेकिन कुछ ही समय बाद हालत कुछ और ही नज़र आए। तालिबान ने न सिर्फ स्थानीय लोगों पर गोलीबारी की जिसमे महिलाऐं और बच्चे शामिल थे। तो वहीं अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर भी तालिबानियों ने महिलाओं और बच्चों पर गोलीबारी की।

महिला गवर्नर को किया कैद
एक और मामला जो तालिबानियों के लम्बे चौड़े बयानों का सच सामने लाता है। महिलाओं के अधिकारों की रक्षा के दावे करने के कुछ घंटो बाद ही अफगानी महिला राज्यपाल सलीमा मज़ारी के गुमशुदा होने की खबर आ रही है। सलीमा मज़ारी ने 2020 में मजारी ने अपने प्रांत में 100 से अधिक तालिबान आतंकवादियों के आत्मसमर्पण के लिए बातचीत की। सूत्रों के अनुसार सलीमा मज़ारी को तालिबानियों ने हिरासत में ले लिया।

हज़ारा नेता की प्रतिमा तोड़ी
राजधानी काबुल और सत्ता पर कब्ज़ा करते ही तालिबानी ने अपनी मन मानी के चलते हज़ारा नेता अब्दुल अली मजारी की प्रतिमा को तोड़ दिया। मजारी तालिबान के खिलाफ अफगानिस्तान की लड़ाई में एक प्रमुख नेता थे। उन्हें 1995 में तालिबान ने मार डाला था।

भारत से आयात निर्यात बंद
व्यापार में अफगानिस्तान के भारत के साथ लम्बे समय से सम्बन्ध है। भारत ने अफगानिस्तान में भारी निवेश किया है। तालिबान ने काबुल में प्रवेश करने और रविवार को देश पर कब्जा करने के बाद भारत के साथ सभी आयात और निर्यात को रोक दिया है।

AUTHOR – SHRADDHA TIWARI

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 × 3 =

Back to top button