कहीं ये आग को हवा देने का काम तो नहीं? …जब ‘हिजाब’ पर सपा नेता ने दिया ये विवादित बयान!

अलीगढ़। चुनावी समर में शुरू हुआ हिजाब बवाल अभी थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। सभी सियासी दल इस मौके को कैश कराने के लिए इसमें कूदने को तैयार हैं। साथ ही इस बात का प्रयास किया जा रहा है कि इस मामले को कैश करके किसी तरह चुनावी रोटियां सेंकी जा सके। इस कड़ी में शनिवार को अलीगढ़ से ताल्लुक रखने वाली सपा नेता रुबीना खान ने बड़ा विवादित बयान दे दिया है, जो इस मामले को कोई और ही दिशा में ले जा सकता है।

बता दें कि हिजाब पहनने को लेकर विवाद के चलते कर्नाटक में शुरू हुआ प्रदर्शन अब राज्य के कई और स्कूल कॉलेजो में भी फैल गया। कॉलेज परिसरों में पथराव की घटनाओं के कारण पुलिस को बल प्रयोग करने के लिए मजबूर होना पड़ा, जिससे टकराव-जैसी स्थिति देखने को मिली। वहीं विवाद के बीच हिजाब पहनने की मांग करने वालों को कर्नाटक हाईकोर्ट ने बड़ा झटका दिया है। अदालत ने इस मामले में फैसला आने तक स्कूल-कॉलेजों में धार्मिक पोशाक पहनकर जाने पर रोक लगाई है और कहा कि तब तक शिक्षण संस्थान खोले जा सकते हैं। मामले में अगली सुनवाई अब सोमवार को दोपहर 2:30 बजे की जाएगी।

खबरों के मुताबिक़ रुबीना ने हाल ही में हिजाब प्रदर्शन मामले पर सामने आए उस वीडियों पर पलटवार करने का प्रयास किया है, जिसमें यह नजर आ रहा था कि कुछ स्कूली लड़के गले में भगवा गमछा डाल कर एक बुर्का पहने लड़की को चारों ओर से घेर कर ‘जय श्री राम’ के  नारे लगा रहे थे। वहीं लड़की ने भी इस मामले में आवेश में आते हुए ‘अल्लाह हू अकबर’ की आवाज बुलंद की।

बेशक ये वाकया निंदनीय था, जिस पर कई यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य से लेकर बसपा प्रमुख मायावती तक ने अपनी राय प्रस्तुत करते हुए इस घटना की निंदा की थी।

मगर, इन सबके बावजूद सपा नेता रुबीना इस मामले में पीछे नहीं रहीं। उन्होंने सीधे तौर पर इस बात को टूल देते हुए बयान दिया कि हिजाब पर ‘हाथ डालने वालों का हाथ काट देंगे’।

उन्होंने कहा कि भारत विविधताओं का देश है, यहां माथे का तिलक, शरीर पर हिजाब या फिर पगड़ी होती है। लेकिन अगर बहन-बेटियों के आत्मसम्मान पर हाथ डालेंगे तो हम लोग झांसी की रानी और रजिया सुल्तान बनकर उनके हाथों को काट डालेंगे।

उन्होंने कहा घूंघट हो या हिजाब, यह सब हमारी भारतीय संस्कृति और परंपराओं का अटूट हिस्सा है। इन पर राजनीति कर विवाद खड़ा करना नीचता की पराकाष्ठा होगी। रुबीना खान ने कहा कि महिलाओं को कमजोर समझने की भूल कतई न करो। इसमें सरकार चाहे किसी भी पार्टी की हो, यदि उनकी बहन-बेटियों के आत्म सम्मान पर हाथ डाला गया, तो उनको झांसी की रानी और रजिया सुल्तान बनने में देर नहीं लगेगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button