‘रूस-यूक्रेन जंग’ ने भारत को दे दिया बड़ा जख्म, मेडिकल पढ़ने गए छात्र ने गंवाई जान

नई दिल्ली। यूक्रेन और रूस के बीच पनप चुका जंग का माहौल केवल इन दोनों देशों को ही नहीं, बल्कि पूरे विश्व को प्रभावित कर रहा है। यही वजह है कि भारत भी इस संकट से अछूता नहीं है। ताजा खबर यह है कि यूक्रेन में हो रही रूसी गोलीबारी के चलते खारकीव में एक भारतीय छात्र की मौत हो गई है।

खबरों के मुताबिक़ विदेश मंत्रालय का कहना है कि यूक्रेन के खारकीव में आज सुबह गोलाबारी में एक भारतीय छात्र की जान चली गई। मंत्रालय उनके परिवार के संपर्क में है। मृतक का नाम नवीन बताया जा रहा है। कर्नाटक का रहने वाला भारतीय छात्र नवीन खारकीव नेशनल मेडिकल यूनिवर्सिटी में चौथे वर्ष का स्टूडेंट था।

जानकारी के मुताबिक़ नवीन के हॉस्टल के साथी श्रीधरन गोपालकृष्णन ने कहा, “यूक्रेन के समयानुसार, आज सुबह करीब साढ़े दस बजे नवीन की गोली लगने से मौत हो गई। वह एक किराना स्टोर के सामने लाइन में खड़ा था तभी रूसी सेना ने लोगों पर गोलियां बरसानी शुरू कर दीं। हमें नवीन के शव के बारे में कोई जानकारी नहीं है, हम में से कोई भी अस्पताल नहीं जा सका।”

बता दें, इस जंग के शुरुआती समय में करीब 20 हजार भारतीय यूक्रेन में फंसे हुए थे, जिनमें से अब तक 4 हजार लोगों को भारत सरकार के प्रयासों से वतन वापस लाया जा चुका है। इस बात पर गौर करें तो साफ होता है कि अभी भी यूक्रेन में करीब 16 हजार भारतीय फंसे हुए हैं, जो जिन्दगी और मौत के दोराहे पर खड़े वतन वापसी का इंतजार कर रहे हैं।

वहीं मंगलवार को यूक्रेन में बिगड़ते माहौल को देखते हुए भारतीय दूतावास ने फ़ौरन कीव से भारतीयों को निकलने का फरमान जारी कर दिया। ऐसे में पीएम मोदी ने यूक्रेन में फंसे सभी  भारतीयों को तेजी से वतन वापस लाने की योजना बनाना शुरू किया और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाक़ात कर इस संबंध में चर्चा की। बताया जा रहा है कि यूक्रेन में फंसे भारतीयों को तेजी से बाहर निकालने के लिए भारत सरकार ने अब वायु सेना के विमानों को भेजने का फैसला लिया है, जिससे तेजी से सभी भारतीयों को सुरक्षित तरीके से वापस लाया जा सके।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

3 × 5 =

Back to top button