JNU में रामनवमी पर नॉनवेज खाने को लेकर बवाल… छात्रों में हुई हिंसक झड़प, FIR

नई दिल्ली। रामनवमी के मौके पर बीते दिन यानी रविवार को जेएनयू (जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी) में हिंसक झड़प हो गई। बताया जा रहा है कि सारा बखेड़ा रामनवमी के दिन नॉनवेज खाने को लेकर हुआ, जिसमें अखिल भारतीय छात्र परिषद (ABVP) और लेफ्ट छात्र आपस में भिड़ गए। वहीं जानकारी यह भी है कि इस हिंसक झड़प में मेस सचिव से भी छात्रों ने मारपीट की। इस झड़प के चलते कई लोगो घायल हुए, जिन्हें इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाया गया है। बता दें, इस मामले की सूचना मिलने के बाद जेएनयू परिसर में भारी संख्या में पुलिसबल तैनात रहा। साथ ही मामले की जांच भी की जा रही है।

खबरों के मुताबिक़ जेएनयू के छात्रों के बीच हिंसक झड़प में 60 से ज्यादा छात्र जख्मी बताए जा रहे हैं। हंगामा राम नवमी और नॉन वेज खाने को लेकर हुआ था, जिसके बाद कावेरी हॉस्टल की मेस में मारपीट हुई।

जानकारी यह भी है कि आज 11 बजे अखिल भारतीय छात्र परिषद के छात्र (ABVP) के छात्र एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे, जिसमें घटनाक्रम को लेकर वे अपना पक्ष रखेंगे। इसके अलावा 2 बजे लेफ्ट विंग के छात्र संगठन दिल्ली पुलिस हेडक्वॉर्टर का घेराव करेंगे।

वहीं झड़प को लेकर वामपंथी छात्रों ने आरोप लगाया कि राम नवमी पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के छात्रों ने उन्हें नॉन वेज फूड खाने से रोका।

लेफ्ट विंग के छात्रों ने यह भी आरोप लगाया कि एबीवीपी के छात्रों ने कावेरी हॉस्टल के मेस सचिव से मारपीट की। लेफ्ट विंग के छात्रों ने एबीवीपी छात्रों पर जेएनयू परिसर में गुंडागर्दी का आरोप लगाते हुए छात्रों को एकजुट होने का आह्वान किया।

बता दें, हिंसक झड़प पर दिल्ली पुलिस ने जेएनयू छात्र संघ, एसएफआई, डीएसएफ और AISA से जुड़े छात्रों की शिकायत पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के छात्रों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। इसमें IPC की धारा 323/341/509/506/34 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

पुलिस का कहना है कि किन छात्रों को चोट आई है और कितने छात्रों की MLC हुई है अभी उनकी डिटेल्स कलेक्ट की जा रही हैं।

पुलिस का यह भी कहना है कि विद्यार्थी परिषद के छात्रों की तरफ से अभी उन्हें लिखित शिकायत नहीं मिली है। अब इस मामले में पुलिस जांच कर रही है पुलिस का कहना है कि सारे सबूत और फैक्ट्स जुटाए जा रहे हैं। साइंटिफिक एविडेंस से बवाली छात्रों की पहचान की जा रही है।

वहीं जेएनयू प्रशासन ने भी कथित नॉन वेज खाने से रोकने के मामले की जांच शुरू कर दी है। जेएनयू  प्रशासन ने कावेरी हॉस्टल की वार्डन और सिक्योरिटी स्टाफ को तलब किया है। इसके साथ-साथ छात्रों के पक्ष को भी जाना जाएगा। कहा गया है कि दोषी पाए जाने वाले छात्रों पर नियमों के तहत सख्त कार्रवाई होगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

12 − four =

Back to top button