हाइपरसोनिक क्रूज मिसाइल पर राजनाथ सिंह का बड़ा बयान, कहा- मिलकर विकसित करें और बढाएं देश की ताकत

नई दिल्ली। हाइपरसोनिक क्रूज मिसाइल पर चीन द्वारा टेस्ट किए जाने को लेकर उठे विवाद के बाद देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बड़ा बयान दिया। रक्षा मंत्री ने कहा कि हाइपरसोनिक क्रूज मिसाइल आज की जरूरत है। ऐसे में हम सबको मलकर इस पर काम करने की आवश्यकता है।

हाइपरसोनिक क्रूज मिसाइल को लेकर राजनाथ सिंह का ये बयान इसलिए भी अहम हो जाता है, क्योंकि हाल ही में अमेरिकी अखबार ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया था कि चीन ने परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम हाइपरसोनिक क्रूज मिसाइल का परीक्षण किया है। इसके बाद से ही अमेरिका समेत कई देशों की चिंता बढ़ गई है। हालांकि, चीन ने इस रिपोर्ट को खारिज किया था।

खबरों के मुताबिक मंगलवार को राजनाथ सिंह ने यह बातें डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन (DRDO) के कार्यक्रम ‘भविष्य की तैयारी’ को सम्बोधित करते हुए कहीं। वहीं इस दौरान रक्षा मंत्री ने डीआरडीओ के बनाए गए हथियार सशस्त्र बलों को सौंपे।

रक्षा मंत्री ने कहा कि आज हम एक मजबूत रक्षा औद्योगिक आधार बनाने के लिए तैयार हैं जो न सिर्फ देश की रक्षा जरूरतों को पूरा करेगा, बल्कि हमारे मित्र देशों की जरूरतों को भी पूरा करेगा।

वहीं दिवंगत चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस), जनरल बिपिन रावत और हाल ही में एक हवाई दुर्घटना में जान गंवाने वाले अन्य लोगों को श्रद्धांजलि देते हुए, रक्षा मंत्री ने कहा कि सीडीएस पद के सृजन के साथ-साथ तीनों सेनाओं के एकीकरण और आधुनिकीकरण की प्रक्रिया शुरू की गई।

युद्ध में प्रौद्योगिकी की भूमिका पर जोर देते हुए, राजनाथ सिंह ने कहा कि हमारा उद्देश्य भारत को रक्षा प्रौद्योगिकी में अग्रणी बनाना और हाइपरसोनिक क्रूज मिसाइल के विकास को एक ऐसी उन्नत तकनीक के रूप में विकसित करना होना चाहिए, जिसके लिए सभी को मिलकर काम करना चाहिए।

उन्होंने बताया कि डीआरडीओ स्मार्ट सामग्री, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, मशीन लर्निंग आधारित सिस्टम, स्वार्म ड्रोन्स और एसिमेट्रिक वारफेयर आदि पर काम कर रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button