पीएम मोदी ने किया प्रधानमंत्री संग्रहालय का उद्घाटन, खरीदा पहला टिकट

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को “प्रधानमंत्री संग्रहालय” का उद्घाटन किया। यह स्वतंत्रता के बाद अपने प्रधानमंत्रियों के जीवन और योगदान के माध्यम से लिखी गई भारत की गाथा का वर्णन करता है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने साधारण व्यक्ति की तरह टिकट लेकर संग्रहालय का उद्घाटन करने हेतु प्रवेश किया। वह इसके पहले आगंतुक भी बने।

राष्ट्र निर्माण की दिशा में भारत के सभी प्रधानमंत्रियों के योगदान को सम्मान देने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की दूरदर्शिता से निर्देशित, प्रधानमंत्री संग्रहालय स्वतंत्रता के बाद से भारत के प्रत्येक प्रधानमंत्री की विचारधारा अथवा कार्यकाल से इतर देश के प्रति उनके योगदानों के लिए एक श्रद्धांजलि है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में यह एक समावेशी प्रयास है, जिसका उद्देश्य युवा पीढ़ी को हमारे सभी प्रधानमंत्रियों के नेतृत्व, दूरदृष्टि और उपलब्धियों के प्रति संवेदनशील बनाना और प्रेरणा देना है।

संग्रहालय में कुल 43 गैलरी हैं। स्वतंत्रता संग्राम के प्रदर्शन से शुरू होकर संविधान के निर्माण तक यह संग्रहालय इस गाथा को सुनाता है कि कैसे हमारे प्रधानमंत्रियों ने विभिन्न चुनौतियों के बावजूद देश को नई राह दी और देश की सर्वांगीण प्रगति को सुनिश्चित किया।

इस संग्राहलय में पूर्व प्रधानमंत्रियों की जानकारी और सूचनाओं के लिए सरकारी संस्थाओं दूरदर्शन, फिल्म डिविजन, संसद टीवी, रक्षा मंत्रालय, मीडिया हाउस, प्रिंट मीडिया, विदेशी न्यूज एजेंसियां, विदेश मंत्रालय के संग्रहालयों से भी मदद ली गई है।

इस संग्रहालय में पुराने और नए का निर्बाध मिश्रण है। पूर्ववर्ती तीन मूर्ति भवन को ब्लॉक वन और नवनिर्मित इमारत को ब्लॉक टू के रूप में विकसित किया गया है। दोनों ब्लॉकों का कुल क्षेत्र 15,600 वर्ग मीटर है। पीएमओ ने कहा कि संग्रहालय का निर्माण उभरते भारत और इसके नेताओं द्वारा उसे दिए गए आकार की कहानी से प्रेरित है। इसके डिजायन में टिकाऊ और ऊर्जा संरक्षण प्रथाओं का ध्यान रखा गया है। परियोजना के दौरान एक भी पेड़ नहीं गिरा और ना ही कोई प्रतिरोपित किया गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

11 − eleven =

Back to top button