हेट स्पीच मामलें में SC में बोली पुलिस- धर्म संसद पर आरोप निराधार, नहीं हुई ऐसी कोई बात

नई दिल्ली। बीते साल यानी हाल ही में हुए विधानसभा चुनावों के प्रचार के दौरान जो दिल्ली की धर्मसंसद में हेट स्पीच देने का मामला तूल पकड़ा था, उस मामलें में अब एक नया मोड आ गया है। सुप्रीम कोर्ट में दायर इस संबध में हलफनामें पुलिस ने साफ किया कि 19 दिसंबर 2021 को दिल्ली में आयोजित धर्म संसद में किसी भी तरह की कोई हेट स्पीच नहीं हुई थी। इतना नहीं इसके साथ ही पुलिस इस मामले को दिल्ली पुलिस ने बंद कर दिया है।

खबरों के मुताबिक़ दिल्ली पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हलफनामे में कहा कि धर्म संसद में मुसलमानों के खिलाफ उकसावे की बात कोई नहीं कही गई। पुलिस ने अपनी जांच के दौरान पाया कि धर्मों की बारीकियों पर चर्चा की गई थी, मगर किसी भी समुदाय के खिलाफ कोई हेट स्पीच नहीं दी गई थी।

साउथ ईस्ट दिल्ली की पुलिस उपायुक्त ईशा पांडे ने अपने हलफनामे में कहा कि दो व्यक्तियों, एसक्यूआर इलियास और फैसल अहमद ने कथित हेट स्पीच की शिकायत दर्ज कराई थी। इन दोनों ने अपनी शिकायत में दावा किया था कि पिछले साल दिसंबर में गोविंदपुरी मेट्रो स्टेशन के पास बनारसीदास चांदीवाला सभागार में हिंदू युवा वाहिनी द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में हेट स्पीच के जरिए लोगों की भावनाओं को भड़काया गया था। इससे इलाके में दहशत फैल गई।

बता दें, इस शिकायत के बाद मामले का संज्ञान लेने के उद्देश्य से पुलिस ने अपनी तरफ से पूरी जांच-पड़ताल की मगर, इस संबंध में उन्हें कोई भी पुख्ता और स्पष्ट सबूत नहीं हासिल हुए कि दिल्ली में हुई धर्मसंसद में किसी भी तरह की धार्मिक उकसावे की बात की गई ऐसे में पुलिस ने लगाए गए आरोपों को निराधार पाया और कार्यवाही को रोक दिया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

5 × two =

Back to top button