कवियों ने रचनाओं का पाठ कर वरिष्ठ साहित्यकार ‘रंगनाथ मिश्र’ को किया याद

51वें साहित्यकार दिवस पर 57वें साहित्यकार सम्मेलन व सम्मान समारोह का आयोजन सम्पन्न

लखनऊ। मंगलवार को अखिल भारतीय अगीत परिषद् साहित्यिक एवं सांस्कृतिक संस्था, लखनऊ के तत्वावधान में यशः शेष रंगनाथ मिश्र ‘सत्य’ जी की जयन्ती के अवसर पर 51वें साहित्यकार दिवस एवं 57वें साहित्यकार सम्मेलन का आयोजन स्थानीय यूपी प्रेस क्लब लखनऊ के सभागार में सम्पन्न हुआ।

समारोह के अध्यक्ष प्रो. (डॉ.) बी. जी. गोस्वामी (पूर्व अधिष्ठाता-विधि विभागल.वि.वि.), वरेण्य अतिथि वरिष्ठ साहित्यकार महेश चन्द्र द्विवेदी (पूर्व पुलिस महानिदेशक, छ.प्र.), प्रो. (डॉ.) उषा सिन्हा (पूर्व अध्यक्ष भाषा विज्ञान [विभाग, न. वि. वि.) एवं डॉ. सुल्तान शाकिर हाशमी (पूर्व सलाहकार सदस्य योजना आयोग, भारत सरकार), विशिष्ट अतिथि- अनिल मिश्रपूर्वक हिन्दी संस्थान, लखनऊ) एवं डॉ. अनिता दुबे (सम्पादक. प्र. हिन्दी संस्थान लखनऊ) थीं।

माँ सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्वलन के पश्चात डॉ. योगेश के संचालन एवं श्रीमती रूपा पाण्डेय सतरूपा की वन्दना से आरम्भ इस कार्यक्रम में सर्वप्रथम रंगनाथ सत्य की 81वी जयन्ती पर उनके चित्र पर माल्यार्पण किया गया।

इस अवसर पर सृजन साहित्यिक एवं सांस्कृतिक संस्था द्वारा वरिष्ठ साहित्यकार प्रो. (डॉ.) बी. जी. गोस्वामी को पॉ० रंगनाथ मिश्र ‘सत्य’ स्मृति सम्मान-2022 एवं प्रो. (डॉ.) उषा सिन्हा कोष कल्याणी देवी स्मृति सम्मान-2022 तथा अ. भा. अगीत परिषद् लखनऊ द्वारा वरिष्ठ साहित्यकार महेश चन्द्र द्विवेदी को दोष बॉ० रंगनाथ मिश्र सत्य स्मृति सम्मान-2022, और डॉ. सुल्तान शाकिर हाशमी को “यशशेष रामलखन तिवारी स्मृति सम्मान-2022, अनिल मिश्र एवं डॉ. अमिता दुबे को सत्ययुग साहित्य सम्मान, विशाल मिश्र को “शशेष जगन्नाथ प्रसाद गुप्त स्मृति सम्मान, शान्ति सक्सेना स्मृति सम्मान, डॉ. योगेश को “पशशेष रामराज मौर्य स्मृति सम्मान, देवेश द्विवेदी को सत्य-सारथी सम्मान से प्रतीक चिह एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया।

समारोह में लक्ष्मी नारायण मिश्र, रूपा पाण्डेय सतरूपा, क्षमापूर्णा पाठक, मंजू सक्सेना, विनोद, रत्ना बाधुली, विजय कुमारी, अनिता सिंह, आयोवती सरोज, अनुराग मिश्र, डॉ श्याम गुप्त, त्रिवेनी प्रसाद दूबे, रवीन्द्र नाथ तिवारी, अनिल किशोर शुक्ल, राम प्रकाश शुक्ल, आशुतोष मिश्र, राजेश कुमार भटनागर ‘सजल’, डॉ. हरी प्रकाश, मुकेशानन्द, सनसोकन बाराकोटी, अरविन्द रस्तोगी, मुकेश कुमार मिश्र, डॉ. विद्या सागर मिश्र सागर, श्रीमती सुधा मिश्रा सहित लगभग अस्सी वरिष्ठ एवं नवोदित रचनाकारों को सत्ययुग साहित्यधर्मी सम्मान से प्रतीक चित्र एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया।

इस दौरान मंच पर उपस्थित अतिथियों महेश, वी. जी. गोस्वामी, सुल्तान शाकिर हाशमी, अनिल मिश्र एवं डॉ. अमिता दुबे ने साहित्यजगत में यशः शेष डॉ० रंगनाथ मिश्र सत्य के योगदान पर अपने विचार व्यक्त करते हुए उन्हें भावांजलि दी। इस अवसर पर नगर और पूरे देश के कोने-कोने से आए हुए अनेक साहित्यकार उपस्थित रहे। समारोह के द्वितीय भाग में कवियों एवं कवयित्रियों ने अपनी अगीत रचनाओं का पाठ कर डॉ० रंगनाथ मिश्र सत्य जी का स्मरण किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

sixteen − 15 =

Back to top button