भारत-आस्ट्रेलिया वर्चुअल एग्रीमेंट पर बोले पीएम- ये रिश्ते मित्रता का स्तंभ, आदान-प्रदान होगा आसान

नई दिल्ली। शनिवार को भारत और आस्ट्रेलिया के मध्य वर्चुअल तरीके से अंतरिम व्यापार समझौते पर हस्ताक्षर हुए। इसके तहत फर्नीचर, आभूषण, कपड़ा, चमड़ा और मशीनरी समेत 6,000 से अधिक क्षेत्रों के भारतीय निर्यातकों को ऑस्ट्रेलियाई बाजार में तुरंत शुल्क मुक्त पहुंच मिलेगी। ऐसे में पीएम मोदी ने कहा कि इतने कम वक्त में इतने अधिक महत्वपूर्ण समझौते पर सहमति बनना, दोनों देशों के बीच आपसी विश्वास को दर्शाता है। यह हमारे द्विपक्षीय संबंधों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है।

खबरों के मुताबिक़ भारत-ऑस्ट्रेलिया आर्थिक सहयोग और व्यापार समझौते पर वर्चुअल हस्ताक्षर समारोह में केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि, ‘भारत-ऑस्ट्रेलिया नेचुरल पार्टनर हैं, जो लोकतंत्र, कानून के शासन और पारदर्शिता के साझा मूल्यों से जुड़े हैं। 2 भाइयों की तरह इन 2 राष्ट्रों ने भी महामारी में एक-दूसरे का सहयोग किया है।’

वहीं पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘ये रिश्ते भारत-ऑस्ट्रेलिया मित्रता का महत्वपूर्ण स्तंभ हैं, ये समझौता हमारे बीच छात्रों, प्रोफेशनल और पर्यटकों का आदान-प्रदान आसान बनाएगा। जिससे ये संबंध और मजबूत होंगे।’

वहीं समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दोनों देशों के रिश्ते पर बात करते हुए कहा कि, ‘इतने कम समय में इतने महत्वपूर्ण समझौते पर सहमति बनना दिखाता है कि दोनों देशों के बीच कितना आपसी विश्वास है। ये हमारे द्विपक्षीय रिश्तों के लिए सचमुच एक ऐतिहासिक क्षण है।’

उन्होंने कहा कि भारत-ऑस्ट्रेलिया के ये रिश्ते मित्रत्रा का स्तंभ है। ये एग्रीमेंट हमारे बीच स्टूडेंट, प्रोफेसनल्स और पर्यटकों का आदान-प्रदान आसान बनाएगा। जिससे ये संबंध और मजबूत होंगे।

बता दें, भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच शनिवार को आर्थिक सहयोग और व्यापार समझौते पर हस्ताक्षर हुए। अब केंद्रीय मंत्रिमंडल और ऑस्ट्रेलिया की संसद से मंजूरी मिलने के बाद यह समझौता पारस्परिक रूप से सहमत तारीख पर लागू होगा। सूत्रों ने कहा कि अंतरिम समझौते के लागू होने के पहले ही दिन भारतीय निर्यातकों के लिए कई वस्तुएं शून्य आयात शुल्क पर उपलब्ध होंगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

thirteen − three =

Back to top button