पीएम मोदी कल करेंगे 25वें राष्ट्रीय युवा महोत्सव का उद्घाटन

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कल यानि 12 जनवरी को पुदुच्चेरी में ऑनलाइन के माध्यम से 25वें राष्ट्रीय युवा महोत्सव का उद्घाटन करेंगे। गौरतलब है कि इसी दिन स्वामी विवेकानन्द की जयंती होती है, जिसे राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है।

इस वर्ष कोविड के बीच महोत्सव को वर्चुअल माध्यम से 12-13 जनवरी, 2022 को आयोजित किया जायेगा। उद्घाटन के बाद राष्ट्रीय युवा शिखर सम्मेलन होगा, जिसमें चार विशेष विषयों पर पैनल चर्चा होगी। युवाओं के नेतृत्व में विकास तथा उभरते मुद्दों और चुनौतियों का समाधान करने के लिये युवाओं को प्रेरित करने सम्बंधी प्रयासों के क्रम में पर्यावरण, जलवायु और सतत विकास लक्ष्य आधारित वृद्धि, प्रौद्योगिकी, उद्यमशीलता और नवोन्मेष, स्वदेशी और प्राचीन ज्ञान, राष्ट्रीय चरित्र, राष्ट्र निर्माण तथा स्थानीय और क्षेत्रीय उद्यमों को बढ़ावा जैसे विषयों को शामिल किया गया है।

पुदुच्चेरी, ऑरोविले, प्रौद्योगिकी द्वारा शहरों के दैनिक जीवन को उन्नत बनाने, स्वदेशी खेल और लोकनृत्यों आदि के बारे में रिकॉर्डेड वीडियो कैप्सूल भी महोत्सव के दौरान प्रतिभागियों को दिखाये जायेंगे। ओलंपियनों और पैरालंपियनों के साथ भी खुली चर्चा होगी तथा उसके बाद सांयकाल प्रत्यक्ष कला प्रदर्शन होगा। सुबह वर्चुअल योग सत्र का भी आयोजन किया जायेगा।

आयोजन के दौरान प्रधानमंत्री “मेरे सपनों का भारत” और “अनसंग हीरोज़ ऑफ इंडियन फ्रीडम मूवमेन्ट” (भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के गुमनाम महानायक) पर चयनित निबंधों का अनावरण करेंगे। एक लाख से अधिक युवाओं ने इन दो विषयों पर निबंध लिखे थे, जिनमें से कुछ निबंधों को चुना गया है।

प्रधानमंत्री सूक्षम, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय के एक प्रौद्योगिकी केंद्र का भी उद्घाटन करेंगे। इसे लगभग 122 करोड़ रुपये के निवेश से पुदुच्चेरी में स्थापित किया गया है। इलेक्ट्रॉनिक्स प्रणाली प्रारूप और विनिर्माण (ईएसडीएम) सेक्टर को ध्यान में रखते हुये इस प्रौद्योगिकी केंद्र को आधुनिकतम प्रौद्योगिकी से लैस किया जायेगा। यह युवाओं को कुशल बनाने में योगदान करेगा तथा हर वर्ष लगभग 6400 प्रशिक्षुओं को प्रशिक्षित करने में सक्षम होगा।

प्रधानमंत्री ओपन एयर थियेटर युक्त एक प्रेक्षागृह पेरुनथलैवर कामराजर मनीमण्डपम का भी उद्घाटन करेंगे, जिसे लगभग 23 करोड़ रुपये की लागत से पुदुच्चेरी सरकार ने निर्मित किया है। इसे मुख्य रूप से शैक्षिक उद्देश्य के लिये इस्तेमाल किया जायेगा। यहां एक हजार से अधिक व्यक्तियों के बैठने की क्षमता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eleven − 5 =

Back to top button