पंजाब में होगा तख्तापलट? कांग्रेस की घेराबंदी कर पठानकोट में पीएम मोदी ने खेला ये बड़ा दांव

नई दिल्ली है। पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों के मद्देनजर इन दिनों भारतीय जनता पार्टी के साथ ही स्वयं देश के प्रधनमंत्री नरेंद्र मोदी भी अपनी पार्टी के लिए समर्थन जुटाने में जुटे हुए हैं है। ऐसे में बुधवार को पंजाब में भाजपा की पकड़ को मजबूती देने के उद्देश्य से पठानकोट पहुंचे, जहां उन्होंने एक जनसभा को संबोधित करते हुए विपक्ष पर तगड़ा प्रहार किया है। इसी के साथ उन्होंने जनता को संबोधित करते हुए अपने मन की बात भी कही, जिसे उन्होंने ‘कड़वी बात’ कहते हुए इंगित किया है।

खबरों के मुताबिक़ इस जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने जनता से कहा कि अगर एक कड़वी बात बताऊं तो बुरा तो नहीं लगेगा ना? आगे पीएम ने कहा कि जिस तरह देश के अलग-अलग राज्यों में जनता ने उनको सेवा का मौका दिया, पंजाब ने इस तरह उनको मौका नहीं दिया है।

उन्होंने कहा कि 20 फरवरी को पंजाब की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए भाजपा को, एनडीए को वोट देना है। 20 फरवरी को पंजाब में शांति और अमन के लिए भाजपा को वोट देना है। 20 फरवरी को पंजाब के विकास के लिए भाजपा को वोट देना है। वह बोले कि बीजेपी पंजाब को पंजाबियत की नज़र से देखती है, वहीं बाकी दल पंजाब को सियासत के चश्मे से देखते हैं। यहां पीएम ने करतारपुर साहिब कॉरिडॉर का भी जिक्र किया।

मोदी ने पठानकोट की जनसभा में कहा कि मैं यहां आया करता था। आपकी रोटी खाकर मैं बड़ा हुआ, जिस तरह से मुझे, बीजेपी को अनेक राज्यों में सेवा करने का मौका मिला, वैसा मौका पंजाब में नहीं मिला है। पहले पंजाब में हम छोटे पार्टनर, छोटे दल के रूप में थे। हमने अपनी पार्टी का नुकसान करके पंजाब के भले को प्राथमिकता दी थी।

पीएम मोदी ने आगे कहा कि मुझे पांच साल आपकी सेवा करने का मौका दीजिए, मैं आपको भरोसा देता हूं कि किसानी, व्यापार को बढ़ाया जाएगा। गरीब, मजदूरों का भला किया जाएगा।

वहीं जनसभा में मोदी ने कहा कि पठानकोट की ये धरती वीरों की धरती है। यहां घर-घर से नौजवान देश की सुरक्षा के लिए सीमाओं पर सेवा दे रहे हैं। इसी धरती से गुरुओं ने सिख धर्म को भी विस्तार दिया। लेकिन सरकार अगर संस्कारों के खिलाफ चलने वालों की हो तो वो विरासत और पहचान, दोनों को मिटाने के लिए लग जाती है।

मोदी ने कहा कि पुलवामा हमले की बरसी पर भी कांग्रेस के लोग अपनी पाप-लीला को बंद नहीं कर पाए। वो हमारी सेना की बहादुरी का फिर से सबूत मांग रहे हैं। मैं वीर जवानों और पूर्व सैनिकों का आभार व्यक्त करता हूं कि उन्होंने मुंहतोड़ जवाब देकर कांग्रेस के मुंह पर ताला लगा दिया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button