पीएम मोदी ने विपक्षियों पर साधा निशाना, बोले- ‘50 साल से अटका काम 5 साल में पूरा’

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के बलरामपुर में सरयू नहर राष्ट्रीय परियोजना का उद्घाटन किया। इस परियोजना से पूर्वी उत्तर प्रदेश के 6,200 से अधिक गांवों के लगभग 29 लाख किसानों को लाभ पहुंचेगा और वे अपनी कृषि क्षमता को बढ़ाने में समर्थ होंगे। इस दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत भी उपस्थित रहे।

उद्घाटन करते हुए पीएम मोदी ने अखिलेश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि मैं जब आज दिल्ली से चला तो सुबह से इंतजार कर रहा था कि कब कोई आएगा और कहेगा कि मोदी जी इस योजना का फीता तो मैंने काटा था। कुछ लोगों की ऐसा कहने की आदत है, हो सकता है कि बचपन में इस योजना का फीता भी उन्होंने ही काटा हो। कुछ लोगों की प्राथमिकता फीता काटना है।” पीएम मोदी ने कहा कि पिछली सरकार का माफियाओं को संरक्षण था। योगी सरकार में इनका सफाया किया गया है। इसीलिए तो लोग कहते हैं फर्क साफ है।

उन्होंने कहा कि आज से करीब 50 साल पहले इस परियोजना पर काम शुरू हुआ था और आज इसका काम पूरा हुआ है। जब इस परियोजना पर काम शुरू हुआ था, तो इसकी लागत 100 करोड़ रुपये से भी कम थी। आज यह लगभग 10 हज़ार करोड़ रुपये खर्च करने के बाद पूरी हुई है। पहले ही सरकारों की लापरवाही की 100 गुना ज्यादा कीमत देश को चुकानी पड़ी है। पीएम मोदी ने कहा कि जो काम पांच दशक से अटका हुआ था उसे पांच सालों में पूरा किया गया। यही डबल इंजन की सरकार का फायदा है।

अपने संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने तमिलनाडु हेलिकॉप्टर हादसे में शहीद हुए सीडीएस बिपिन रावत को याद करते हुए कहा कि रावत का जाना देश के लिए बड़ी क्षति है। रावत ने सेना को आत्मनिर्भर बनाया। बलरामपुर की धरती से कई क्रांतिकारियों ने आजादी के संग्राम में अपना योगदान दिया है।

अखिलेश सरकार पर सवाल उठाते हुए पीएम मोदी ने कहा कि पिछली सरकारों ने धन-समय और संसाधनों का दुरुपयोग किया है। देश के विकास में पानी की कमी बाधक है। किसानों के खेत तक पानी पहुंचाना हमारी जिम्मेदारी है।

पीएम मोदी ने देश के किसानों को संबोधन के दौरान एक निमंत्रण भी दिया है। पीएम मोदी ने कहा कि 16 दिसंबर को सरकार प्राकृतिक खेती पर एक आयोजन कर रही है। इसमें ज्यादा से ज्यादा किसान ऑनलाइन टीवी या अन्य माध्यम से जुड़े।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × five =

Back to top button