माफियाओं और रेपिस्ट में ‘बुलडोजर’ की दहशत… टॉप 50 पर पैनी नजर, सरेंडर नहीं तो गिर रहे घर

लखनऊ। यूपी की सत्ता में दोबारा सीएम योगी की वापसी के बाद से ही अब बाबा का बुलडोजर भी सक्रिय दिख रहा है। जहां एक ओर अवैध कब्जों को लेकर माफियाओं पर इसने दबदबा बनाया हुआ है, वहीं इसकी दहशत रेप आरोपियों में भी देखने को मिल रही है। वहीं खास यह है कि अवैध कब्जे पर कार्रवाई के तहत अब 25 माफियाओं की जगह 50 माफियाओं की लिस्ट तैयार की जाएगी, जिन पर ‘बाबा बुलडोजर’ की कार्रवाई की जाएगी।  

खबरों के मुताबिक़ माफियाओं के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई जारी रहेगी। सीएम ने निर्देश दिया है कि निर्दोष और कमजोर के खिलाफ कार्रवाई न हो। माफियाओं के खिलाफ ‘बुलडोजर कार्रवाई’ होगी। अब तक हम 25 माफियाओं पर नजर रखते थे, अब 50 माफियाओं पर नजर रखेंगे।

वहीं यह भी बताया जा रहा है कि सीएम ने निर्देश दिया है कि नवरात्रि के मौके पर सभी पुलिस अधिकारियों द्वारा अपने अधिकार क्षेत्र में 100 दिनों तक प्रतिदिन 1 घंटे पैदल गश्त की जाए।

उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि बड़े मंदिर वाले हर शहर में साफ-सफाई और पीने का पानी अवश्य सुनिश्चित किया जाए।

बता दें, कुछ दिन पहले ही एलडीए ने लखनऊ में एक बीएसपी नेता के खिलाफ अवैध कब्जे को लेकर कार्यवाही करते हुए उनकी 50 करोड़ की इमारत को ध्वस्त किया था।

इसके अलावा यह भी जानकारी है कि शनिवार को यूपी के सहारनपुर में गैंगरेप के आरोपी दो भाइयों के घर बुलडोजर चला दिया गया। दरअसल, सहारनपुर के थाना चिलकाना क्षेत्र के चालाकपुर के 2 भाइयों पर गैंगरेप का आरोप है और ये दोनों भाई फरार थे। इन्हें पकड़ने के लिए यूपी पुलिस ने बुलडोजर का सहारा लिया।

बताया जा रहा है कि पूरे गांव में पुलिस ने ढोल बजाकर ये सूचना दी कि अगर गैंगरेप के आरोपी कहीं छुपे हैं तो बाहर आ जाएं और खुद को पुलिस के हवाले कर दें। लेकिन जब आरोपियों का कोई सुराग नहीं मिला तो पुलिस ने अपनी कार्रवाई करते हुए गैंगरेप के आरोपियों के घर पर बुलडोजर चढ़ा दिया। हालांकि, बाद में मुखबिर की मदद से दोनों आरोपियों को हिरासत में ले लिया गया।

इससे पहले 22 मार्च को यूपी के प्रतापगढ़ जिले में रेप के एक फरार आरोपी को पुलिस ने महज दो घंटे में घुटने पर ला दिया। रेलवे स्टेशन पर एक महिला से बलात्कार के आरोपी शुभम मोदनवाल को सरेंडर कराने की जब तमाम कोशिशें नाकाम हुईं तो रेप आरोपी के मकान पर पुलिस के अफसर बुलडोजर लेकर पहुंच गए और चेतावनी दे डाली कि अगर 24 घंटे में सरेंडर नहीं कराया तो घर गिरा दिया जाएगा।

इस धमकी का असर ऐसा हुआ कि बस 2 घंटे बाद शुभम के शहर के भगवा चुंगी पर होने की जानकारी पुलिस को मिल गई। इसके बाद पुलिस टीम ने उसे गिरफ्तार कर लिया। बता दें, प्रतापगढ़ पुलिस का यह तरीका अब जिले में चर्चा का विषय बना हुआ है। लोगों का कहना है कि हर अपराधी के साथ अगर ऐसा ही सलूक हो तो प्रदेश में किसी की भी गलत काम करने की हिम्मत ही नहीं होगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

9 − four =

Back to top button