हिजाब बैन को मिली हरी झंडी तो आग बबूला हुए ओवैसी, बोले- हमें असहमति का हक, जाएंगे SC

नई दिल्ली। मंगलवार को कर्नाटक हाईकोर्ट ने काफी समय से चल रहे हिजाब विवाद वाली याचिका को एक सिरे से खारिज कर दिया। साथ ही कहा कि कोई भी छात्र स्कूल यूनिफार्म को पहनने से मना नहीं कर सकता है। साथ ही कोर्ट ने यह भी कहा कि हिजाब मुस्लिम धर्म में अनिवार्य नहीं है। ऐसे में कोर्ट के इस फैसले के बाद एआईएमआईएम के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी का बयान आया है, जिसमें उन्होंने कोर्ट के फैसले को मानने से इनकार कर दिया है।

उन्होंने कहा कि हमें हक़ है कि हम कोर्ट के फैसले पर असहमति जता सकते हैं। इसी के साथ उन्होंने आगे कहा कि यह उम्मीद जताई है कि याचिककर्ता हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील करेंगे।

बता दें, ये सभी बातें ओवैसी ने ट्वीट के माध्यम से कहीं। उन्होंने ट्वीट किया… मैं कर्नाटक हाईकोर्ट के फैसले से सहमत नहीं हूं, फैसले से असहमत होना मेरा हक है। मुझे उम्मीद है कि याचिकाकर्ता सुप्रीम कोर्ट जाएंगे।

ओवैसी ने एक अन्य ट्वीट में लिखा कि मुझे उम्मीद है कि ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के साथ बाकी संगठन भी इस फैसले के खिलाफ अपील करें।

दरअसल, कर्नाटक हाईकोर्ट ने हिजाब को लेकर दाखिल याचिकाओं को खारिज करते हुए कहा कि हिजाब धार्मिक अनिवार्यता का हिस्सा नहीं है। 

कर्नाटक हाईकोर्ट के इस फैसले के बाद सियासत तेज हो गई है। इस मामले में याचिकाकर्ता सुप्रीम कोर्ट में अपील की बात कह रहे हैं, वहीं सियासी दलों के लोग भी मुखर हो उठे हैं। इसी क्रम में ओवैसी ने ट्वीट कर फैसले पर असहमति जताई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

one × three =

Back to top button