जाति-मजहब पर विपक्ष का सियासी खेल जारी, भाजपा ने दी सुरक्षा की गारंटी : सीएम योगी

लखनऊ। यूपी विधानसभा चुनावों के तहत छठे चरण के लिए वोटबैंक हासिल करने और पिपराइच विधानसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी को जनसमर्थन दिलाने के उद्देश्य से प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को एक जनसभा को संबोधित किया। यहां उन्होंने भाजपा शासन काल में कराए गए कार्यों और अपराध नियंत्रण में प्रदेश सरकार द्वारा की गई पहलों का ब्यौरा दिया। साथ ही मुख्य रूप से अपनी बातों में सपा और बसपा को निशाने पर लिया।

खबरों के मुताबिक़ सीएम योगी ने कहा कि भाजपा हर नागरिक को सुरक्षा, विकास और शासन की योजनाओं से जोड़ने वाली पार्टी है। सपा के लोग, नौजवानों के भविष्य के साथ खिलवाड़ और विकास की योजनाओं में डकैती डालते थे। गरीबों का राशन तक हड़प जाते थे।

उन्होंने आगे कहा कि सपा सरकार में बिजली की भी जाति और मजहब हुआ करती थी। चेहरा देखकर बिजली दी जाती थी। हमारी सरकार बिना किसी भेदभाव के सबको पर्याप्त और निर्बाध बिजली दे रही है। हमारा बुलडोजर सड़क भी बना रहा है। साथ ही पेशेवर अपराधियों और माफिया की अवैध कमाई के पैसे से सरकार का खजाना भी भर रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह चुनाव विकास और शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं पर हो रहा है। हर गरीब को मकान, शौचालय, वृद्धजनों, दिव्यांगजनों को पेंशन और उपचार की सभी सुविधा दे रहे हैं। अयोध्या में भगवान श्रीराम का भव्य मंदिर बन रहा है। इससे पूरी पीढ़ी का उद्धार हो गया।

उन्होंने कहा कि यह मामला पिछले 500 सालों से लटका था। सपा, बसपा या कांग्रेस मंदिर का निर्माण कभी नहीं करातीं। भाजपा सरकार ने जो कहा, वह करके दिखाया है। पिछले पांच साल में पांच लाख सरकारी नौकरी दी गई है। दो करोड़ युवाओं को रोजगार के साथ जोड़ा गया है।

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने सुरक्षा की गारंटी दी है। पर्व और त्योहार शांति से मनाए जा रहे हैं। कोरोना की चुनौती के बीच डबल इंजन की सरकार प्रतिमाह दो बार निशुल्क राशन के साथ दाल, तेल और नमक भी दे रही है। वहीं 2017 से पहले गरीबों का राशन सपा-बसपा के नेता हड़प लेते थे।

आगे वे बोले कि हमने यह तय किया है, चुनाव परिणाम आने के बाद हर उज्ज्वला योजना के लाभार्थी को होली और दिवाली पर एक-एक निशुल्क सिलिंडर, 60 साल के ऊपर की महिलाओं को रोडवेज की बस में निशुल्क यात्रा की सुविधा दी जाएगी। बेटी के विवाह के लिए दी जाने वाली 51 हजार की कन्यादान राशि को बढ़ाकर एक लाख रुपये किया जाएगा। हर परिवार के एक युवा को सरकारी नौकरी या रोजगार से जोड़ेंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

sixteen + 1 =

Back to top button