WHO की चेतावनी – नहीं संभले तो गंभीर हो सकते हैं नतीजे, देश में ओमिक्रोन संक्रमित बढ़कर हुए 64

नई दिल्ली। दुनिया के साथ-साथ अब देश में भी हर दिन कोरोना ओमीक्रोन के मामले तेजी पकड़ते नजर आ रहे हैं। बीते कुछ दिनों में ही ओमिक्रोन संक्रमितों की संख्या देश में बढ़कर अब 64 हो गई है। यह इस बात का इशारा है कि यदि समय रहते सुरक्षा संबंधी व्यापक कदम नहीं उठाए गए, तो एक बार फिर देश में कोरोना पीड़ितों की संख्या में भारी इजाफा देखने को मिल सकता है।

खबरों के मुताबिक़ भारत में ओमिक्रॉन के अब तक 64 केस सामने आ चुके हैं। सबसे ज्यादा केस महाराष्ट्र में मिले हैं। यहां अब तक 28 केस सामने आ चुके हैं।

इसके अलावा राजस्थान में 17, कर्नाटक में 3, गुजरात में 4, केरल में 1 और आंध्रप्रदेश में 1, दिल्ली में 6, तेलंगाना में 3 और चंडीगढ़ में 1 केस सामने आया है। खास बात ये है कि ओमिक्रॉन से संक्रमित ज्यादातर लोग वैक्सीन की दोनों डोज ले चुके हैं।

वहीं नोएडा में विदेश से आए 5 लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। इनके सैंपल जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजे गए हैं। बताया जा रहा है कि दो परिवार के 5 सदस्य कोरोना संक्रमित मिले हैं। इनमें से एक परिवार इंग्लैंड और दूसरा सिंगापुर से लौटा है।

विदेश से करीब 4729 यात्री अब तक नोएडा वापस आए हैं। इनमें से करीब 2600 यात्रियों को ट्रैक किया जा चुका है। जबकि 1100 ट्रैवलर हाई रिस्क कंट्री से आए हैं।

डब्ल्यूएचओ ने कहा कि 77 देशों ने अब तक ओमिक्रॉन के केसों की पुष्टि की है। वास्तविकता यह है कि ओमिक्रॉन इससे भी ज्यादा देशों में है। भले ही इसका अभी तक पता नहीं चला हो। ओमिक्रॉन उस दर से फैल रहा है, जिसे हमने पिछले किसी वैरिएंट के साथ नहीं देखा।

डब्ल्यूएचओ का कहना है कि ओमिक्रोन का प्रसार शुरुआत से अब तक अपनाए गए सभी उपायों से ही रोका जा सकता है। इसे बहुत जल्द गंभीरता से लागू करना चाहिए। अकेले वैक्सीन से कोई देश इस संकट से बाहर नहीं निकल पाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button