Trending

पुराने लखनऊ के पर्यटन पर चार चांद लगा रहा शाही तालाब का म्यूजिकल फाउंटेन

भाजपा विधायक डॉ नीरज बोरा के निर्देशानुसार लखनऊ विकास प्राधिकरण द्वारा 182 साल पुराने तालाब का जीर्णोद्धार और सौंदर्यीकरण किया गया है।

लखनऊ के हेरिटेज जोन के रूप में प्रसिद्ध पुराना लखनऊ पर्यटन अब अपने नए स्वरूप में जीवंत हो रहा है। हुसैनाबाद पिक्चर गैलरी तालाब जिसे शाही तालाब के नाम से भी जाना जाता है,में म्यूजिकल फाउंटेन बड़ा इमामबाड़ा, छोटा इमामबाड़ा, हुसैनाबाद पिक्चर गैलरी और भारत के सबसे ऊंचे क्लॉक टावर की खूबसूरती में चार-चांद लगा रहा है।

भाजपा विधायक डॉ नीरज बोरा के निर्देशानुसार लखनऊ विकास प्राधिकरण द्वारा 182 साल पुराने तालाब का जीर्णोद्धार और सौंदर्यीकरण किया गया है।1.75 लाख वर्ग मीटर तालाब और आसपास के परिसर पर ₹21 करोड़ से ज्यादा का खर्च आया है।


इस प्रोजेक्ट की कंसलटेंट आर्किटेक्ट ने बताया कि, यह प्रोजेक्ट दिल्ली और गुजरात के अक्षरधाम मंदिरों के तर्ज पर पूरा किया गया है। लेकिन वहां पौराणिक कहानियां दर्शाई जाती हैं और यहां पर फिल्म में इतिहास होगा।

यहां फाउंटेन और लेजर लाइट के माध्यम से शहर के इतिहास का चित्रण वाटर स्क्रीन शो के पर किया जाता है। देर शाम के समय इस कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है इसके लिए स्थल भी बनाए गए हैं। यहां वॉटर स्क्रीन और मल्टीमीडिया प्रोजेक्शन लाल पत्थर पर किया जाएगा। इस शो में 1775 में नवाब आसफ़ुद्दौला के लखनऊ आगमन और उसके बाद का इतिहास दिखाया जाता है। इतिहास और टेक्नोलॉजी के मेल से नवाबी युग से अंग्रेजों तक लखनऊ की कहानी दिखाई जाती है।

पानी के फुव्वारे और लेजर लाइट के प्रयोग से दर्शाने वाली यह फिल्म करीब 20 मिनट तक की स्क्रीन पर पूरे तरह ट्रांसपेरेंट होने से लेजर लाइट और फुव्वारे ग्राफिक की छवि के रूप में 3D इफेक्ट दे रहे हैं इसके अलावा 72 तरह की लाइट का स्पेशल म्यूजिक इसकी खूबसूरती पर चार चांद लगा रहा है।

म्यूजिकल फाउंटेन का एक दृश्य जिसमें बॉलीवुड का प्रसिद्ध देश भक्ति संगीत बज रहा है।

कोविड-19 प्रोटोकॉल को ध्यान में रखते हुए आगंतुकों के फुटफॉल को प्रतिबंधित किया गया है लखनऊ विकास प्राधिकरण के मुख्य अभियंता ने कहा कि, हमारे शाम 6:30 बजे फिर से चालू रहेंगे।प्रोजेक्ट रूम के एक कर्मचारी कृष्णा यदुवंशी ने कहा, शो के दौरान म्यूजिक में गणेश वंदना, शिव तांडव और बॉलीवुड देशभक्ति गीत बजाए जाते हैं।इस अद्भुत नजारे को दूर-दूर से देखा जा सकेगा। हजारों लोग शाम को इसका लुत्फ लेने आते हैं।

लखनऊ विकास प्राधिकरण ने जब से यह म्यूजिकल फाउंटेन पब्लिक के लिए खोला है तब से पर्यटको की भीड़ जमा रहती है। बरसों पहले जिस तरह पुराना लखनऊ पुराना हो चला था, आज वह ऐसा नहीं रह गया। वर्तमान सरकार के कार्यकाल में खास तौर से लखनऊ उत्तर विधानसभा के प्रतिनिधि डॉ नीरज बोरा के निर्देशन में बुनियादी सुविधाओं के विकास तथा पुराने लखनऊ को नए तरीके से अपने प्राचीन स्मारकों, संस्कृतियों, त्योहारों और भोजन को प्रस्तुत कर रहा है।

Abhay Kumar Mishra & Lucknow 24 team

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 × five =

Back to top button