उत्तरपूर्वी दिल्ली दंगे : हाईकोर्ट का सोनिया-प्रियंका और राहुल समेत कई राजनेताओं को नोटिस

नई दिल्ली साल 2020 में उत्तरपूर्वी दिल्ली में हुए दंगों के मामले में दिल्ली हाईकोर्ट में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी, प्रियंका गांधी वाड्रा और वायनाड से कांग्रेस सांसद राहुल गांधी समेत कई दिग्गज नेताओं को नोटिस भेजा है। इस नोटिस में कोर्ट ने यह पूछा है कि आखिरकार पक्षकार के तौर पर आखिर उनपर मुकदमा क्यों नहीं चलाया जाए?

खबरों के मुताबिक़ अदालत ने इन सभी के खिलाफ भड़काऊ भाषण संबंधी FIR दर्ज कर इन्हें पक्षकार बनाने संबंधी सवाल पूछे हैं। कोर्ट ने कार्रवाई करने के संबंध में इन सभी का जवाब मांगा है।

बता दें कि दिल्ली हाईकोर्ट में शेख मुजतबा फारूक द्वारा दाखिल की गई याचिका में फरवरी 2020 में दंगे भड़काने की भूमिका को लेकर राजनेताओं सहित कई अन्य लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की मांग की गई है।

गौरतलब है कि 2020 की 23 फरवरी से 26 फरवरी तक दिल्ली में दंगे हुए थे। इसमें 53 लोगों की जान गई थी। वहीं इस दंगे में 581 लोग घायल हुए थे।

बता दें कि दंगाइयों ने 24 और 25 फरवरी को नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में जमकर उपद्रव किया था। इसको लेकर कुल 755 शिकायत दर्ज की गई थीं। बता दें कि जस्टिस सिद्धार्थ मृदुल और अनूप कुमार मेंदीरत्ता की बेंच ने 2020 में हुए दंगे से संबंधित याचिकाओं पर सुनवाई किया।

बता दें, सोनिया गांधी, प्रियंका गांधी वाड्रा और राहुल गांधी के अलावा कई अन्य राजनेताओं को भी नोटिस जारी किया गया है, जिसमें आप नेता मनीष सिसोदिया और अमानतुल्ला खान, एआईएमआईएम नेता वारिस पठान और अकबरुद्दीन ओवैसी, महमूद प्राचा, हर्ष मंदर और अभिनेत्री स्वरा भास्कर शामिल हैं।

वहीं इसी तरीके का नोटिस बीजेपी नेता कपिल मिश्रा, केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर, बीजेपी सांसद परवेश वर्मा, अभय वर्मा को भी भेजा गया है। इसको लेकर कोर्ट ने सभी लोगों से चार मार्च 2022 तक इसपर जवाब दाखिल करने को कहा है। इसके अलावा दिल्ली हाईकोर्ट में दाखिल एक याचिका में दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप प्रमुख अरविंद केजरीवाल के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश देने की भी मांग की गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

5 × one =

Back to top button