ओमिक्रॉन के प्रति लापरवाही पड़ सकती है भारी, इससे जुड़े इन लक्षणों को जरूर जान लें

नई दिल्ली। एक बार फिर देश में कोरोना की दहशत साफ नजर आ रही है। लोगों के मन में कोरोना ने नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर तरह-तरह की बातें चल रही हैं। वजह यह है कि बीते सालों में कोरोना संक्रमण के दो वैरिएंट ने ऐसी स्थिति पैदा कर दी थी कि अस्पतालों में पैर रखने भर की जगह भी नहीं बची थी। वहीं देश भर में इस संक्रामक बीमारी के कारण 4 लाख से अधिक लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा था। ऐसे में नए कोरोना वैरिएंट ओमिक्रॉन के आने से लोग एक बार फिर अपनी सेहत और स्वास्थ्य को लेकर काफी डरे हुए हैं।

नया ओमिक्रॉन वैरिएंट अधिक खतरनाक

खबरों के मुताबिक WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) का दावा है कि नया ओमिक्रॉन वैरिएंट पहले संक्रमित हो चुके लोगों को भी आसानी से अपनी चपेट में ले सकता है। इसके अलावा, वैक्सीन के दोनों डोज ले चुके लोग भी ओमिक्रॉन के खिलाफ सुरक्षित नहीं हैं।

WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) का दावा है कि नया ओमिक्रॉन वैरिएंट पहले संक्रमित हो चुके लोगों को भी आसानी से अपनी चपेट में ले सकता है। इसके अलावा, वैक्सीन के दोनों डोज ले चुके लोग भी ओमिक्रॉन के खिलाफ सुरक्षित नहीं हैं। आने वाले कुछ दिन या सप्ताह में साफ हो जाएगा कि ओमिक्रॉन वैरिएंट आखिर कितना खतरनाक है। अब तक दुनियाभर के डॉक्टर्स और वैज्ञानिक ओमिक्रॉन में कई तरह के लक्षण दिखने का दावा भी कर चुके हैं। ऐसे में इन लक्षणों को बिलकुल भी नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए और तुरंत कोरोना संबंधी जांच कराई जानी चाहिए।

कोरोना ओमिक्रॉन वैरिएंट के लक्षण

पसीने के साथ शरीर में दर्द की शिकायत : डॉक्टरों का कहना है कि ओमिक्रॉन से संक्रमित मरीजों को रात में पसीना आने की शिकायत हो सकती है। कई बार मरीज को इतना ज्यादा पसीना आता है कि उसके कपड़े या बिस्तर तक गीला हो सकता है। संक्रमित को ठंडी जगह में रहने पर भी पसीना आ सकता है। इसके अलावा मरीज को शरीर में दर्द की शिकायत भी हो सकती है।

बुखार के साथ सूखी खांसी : ओमिक्रॉन से संक्रमित मरीज में सूखी खांसी के लक्षण भी देखे गए हैं। ये लक्षण कोरोना के अब तक सभी पुराने स्ट्रेन में भी देखे जा चुके हैं। इसके अलावा बुखार और मांसपेशियों में दर्द भी ओमिक्रॉन के लक्षण हो सकते हैं।

सामान्य बुखार : कोरोना के किसी भी वैरिएंट के साथ हल्का या तेज बुखार होने की शिकायत लगातार सामने आई हैं। ओमिक्रॉन के संक्रमण में मरीज को हल्का बुखार हो सकता है और इसमें बॉडी का टेंपरेचर अपने आप नॉर्मल हो जाता है।

थकावट : पिछले तमाम वैरिएंट्स की तरह ओमिक्रॉन में भी मरीज को बहुत ज्यादा थकान महसूस हो सकती है। इसमें संक्रमित इंसान का एनेर्जी लेवल काफी कम हो जाता है। गले का छिलना : बताया जा रहा है कि ओमिक्रॉन से संक्रमित लोगों में गले में खराश की बजाय गला छिलने जैसी दिक्कत देखने का दावा किया है, जो कि असामान्य है। ये दोनों लक्षण लगभग एक जैसे हो सकते हैं। हालांकि गले में छिलने की समस्या ज्यादा दर्दनाक हो सकती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × two =

Back to top button