वर्चुअल रैली में मोदी की हुंकार, ‘परिवारवादियों’ का सफाया कर रही डबल इंजन सरकार

लखनऊ। रविवार को जब एक ओर यूपी में तीसरे चरण के मतदान के लिए प्रदेश की जनता अपने मताधिकार का प्रयोग कर बड़े परिवर्तन की ओर अग्रसर है। उसी समय देश के पीएम नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के हरदोई और उन्नाव में एक जनसभा को संबोधित करने के बाद वर्चुअल रैली के माध्यम से लखनऊ और रायबरेली की जनता को संबोधित किया।

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में प्रदेश के निचले और गरीब तबके के लोगों का जिक्र करते हुए कहा कि एक वक्त था, जब इस तबके को पूछने वाला कोई नहीं था, लेकिन भाजपा के शासन काल में सरकार ने उन्हें यह महसूस कराया कि वह भी इस देश के विकास में बराबरी की भागीदारी रखते हैं। वे किसी मायने किसी से भी कमजोर नहीं हैं।

पीएम मोदी ने आगे कहा कि देश में हिंदी बोलने वाले भी किसी मायने अपने आपको कमजोर न समझें। हिन्दी माध्यम से पढ़ने वाले भी देश ही नहीं विदेश में अपना नाम रौशन कर रहे हैं। इस बात को तथ्यामक ढंग से प्रस्तुत करने के लिए हाल ही में गोल्ड मैडल लाने वाले भारतीय ओलम्पिक खिलाड़ियों का उन्होंने जिक्र किया।

उन्होंने कहा कि यह सब भी आपके जैसे ही हैं। इन्होंने भी किसी अंग्रेजी स्कूल से पढ़ाई नहीं की थी, फिर देश आज इनकी काबिलियत और क्षमता से दुनिया में खुद को गौरवान्वित महसूस कर रहा है।

इसी के साथ पीएम मोदी ने अपना रुख विपक्षी दलों की ओर किया। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों में प्रदेश का कितना बुरा हाल था, इस बात से सभी वाकिफ हैं। यूपी में गुंडागर्दी, भ्रष्टाचार, माफियागिरी का बोलबाला था।

सपा और कांग्रेस को ‘परिवारवादी’ शब्द से संबोधित करने हुए पीएम मोदी ने कहा कि एक वक्त था, जब प्रदेश की जनता सबसे ज्यादा पीने के पानी से ग्रसित थी। प्रदेश की मेरी माताएं और बहने जबसे ज्यादा उस पानी से प्रभावित थीं। उनके बारे में इन परिवादियों ने कभी नहीं सोचा। वजह यह थी कि ये केवल चुनावों के वक्त बड़े-बड़े वादे करने वाले लोग हैं। जो सत्ता मिलने के बाद जनता को भूल जाते हैं और अपनी जेबे भरने में जुटे रहते हैं।

मगर, यूपी में जनता के आशीर्वाद से बनी डबल इंजन की सरकार (योगी और केंद्र में मोदी) ने इन परिवारवादी दलों की सभी नीतियों को धाराशाई कर दिया। प्रदेश में लाखों घरों में नए जल कनेक्शन किए जा चुके हैं और आगे भी किए जाएंगे। ताकि हर घर में नल से जल की आपूर्ति हो सके। ताकि प्रदेश में रहने वाली मेरी माताओं और बहनों को गंदे पानी के कारण होने वाली समस्या से न जूझना पड़े।

इसी के साथ प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में किसानों का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश के साथ ही देश के विकास में हमारे किसानों, खासकर छोटे किसानों का बहुत बड़ा योगदान है। इसलिए भाजपा की डबल इंजन सरकार ने किसानों के विकास के लिए कई योजनाए लागू की हैं, जिससे उनकी स्थिति में काफी सुधार हुआ है। अब वह अपने आप को असहाय नहीं महसूस करते हैं।

उन्होंने कहा कि किसान सीधे अपने अनाज को बेच सके इसके लिए भी भाजपा सरकार ने कई योजनाए तैयार की और लागू कीं। वहीं आम की फसल उगाने वाले किसानों का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि हमारे आम पैदा करने वाले किसान भाई पूरे साल मेहनत करते हैं और फिर उसकी फसल काटते हैं।

मगर, अहम बात यह है कि आम की फसल तैयार होते ही उसे खाने की मेज तक पहुंचाना अनिवार्य हैं, अन्यथा आधी से ज्यादा फसल बेकार हो जाती है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए भाजपा सरकार ने किसान एक्सप्रेस चलवाई, ताकि फसल के तुरंत बाद पूरे देश में किसान अपने आम की सप्लाई भेज सके और अधिक से अधिक उसे हक़ का पैसा मिल सके। वहीं अंत में पीम मोदी ने जनता को इस बात का ध्यान दिलाया कि अगर ऐसे ही प्रदेश को विकास की दोगनी गति देनी है, तो 23 फरवरी को ‘पहले मतदान-फिर बाकी काम’ का पालन करते हुए कमल का बटन दबाना है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

4 × two =

Back to top button