मेडिकल छात्रों को मोदी का तोहफा… प्राइवेट कॉलेज की 50 फीसदी सीटों पर लगेगी सरकारी फीस

नई दिल्ली। यूक्रेन और रूस के मध्य जंग की स्थिति के कारण पैदा हुए तनाव के चलते जब यह बात निकल कर सामने आई कि देश में मेडिकल सीटों की अधिक फीस के चलते भारत से ज्यादातर छात्र देश से बाहर जाने का मन बनाते हैं। इस बात को गंभीरता से लेते हुए केंद्र सरकार ने सोमवार को बड़ा फैसला लिया है, जिसके चलते अब मेडिकल की पढ़ाई करने वाले छात्रों को खासी राहत महसूस होगी।

दरअसल, केंद्र सरकार ने ऐलान किया कि अब प्राइवेट मेडिकल कॉलेज की 50 प्रतिशत सीटों पर सरकारी कॉलेज के बराबर ही फीस लगेगी। मुमकिन है, सरकार के इस फैसले से देश में मेडिकल के लाखों छात्रों और पैरेंट्स को एक बड़ी राहत और खुशी मिलेगी।

बता दें, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को ट्वीट करके कहा कि कुछ दिन पहले सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया जिसका बड़ा लाभ गरीब और मध्यम वर्ग के बच्चों को मिलेगा। हमने तय किया है कि प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों में आधी सीटों पर सरकारी मेडिकल कॉलेज के बराबर ही फीस लगेगी। पीएम मोदी ने इसका ऐलान जनऔषधि दिवस के मौक पर किया।

अपने संबोधन में पीएम मोदी ने जनऔषधि केंद्र की भी जमकर प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि जन औषधि केंद्र हमारे शरीर को औषधि देते हैं और इन इनमें ऐसी औषधि भी हैं जो हमारे मन की चिंताओं को भी कम करती हैं। पीएम ने कहा कि पहले जब लोगों के हाथ में दवा की पर्ची आती थी तो लोगों के मन में डर रहता था कि कितना पैसा खर्च हो जाएगा लेकिन आज वो चिंता भी पूरी तरह से गायब हो गई है।

पिछले कई महीनों से मेडिकल की फीस को लेकर हो हल्ला मचा हुआ था। पैरेंट्स और छात्र लगातार मेडिकल कॉलेज की फीस को कम करने की मांग में जुटे हुए थे। ऐसी संभावना जताई जा रही थी कि सरकार इस बारे में कोई बड़ा कदम उठा सकती है। पीएम मोदी ने कहा कि भारत सरकार भविष्य को ध्यान में रखते हुए हेल्थ सेक्टर को मजबूत बनाने के लिए कदम उठा रही है। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद दशकों तक पूरे देश में सिर्फ एक एम्स था लेकिन सरकार के मजबूत इरादों की वजह से आज 22 एम्स हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

1 × 5 =

Back to top button