चौक स्थित प्राचीन श्री बड़ी काली जी मन्दिर का विकास 48.89 लाख रुपये से होगा

मुख्यमंत्री पर्यटन संवर्धन योजना के तहत बड़ी काली जी मन्दिर धार्मिक स्थल के सौन्दर्यीकरण निर्माण कार्य का शुभारंभ विधायक डा.नीरज बोरा ने किया

लखनऊ। चौक स्थित प्राचीन श्री बड़ी काली जी मन्दिर का विकास 48.89 लाख से होगा। उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से मुख्यमंत्री पर्यटन संवर्धन योजना के तहत बड़ी काली जी मन्दिर धार्मिक स्थल के सौन्दर्यीकरण निर्माण कार्य का शुभारंभ मंगलवार को क्षेत्रीय विधायक डा.नीरज बोरा ने किया।

भाजपा विधायक डा.नीरज बोरा ने बताया कि प्रदेश सरकार की ओर से धार्मिक स्थलों को पर्यटन स्थल के रुप में विकसित करने के लिए कई योजनाएं चलाई जा रही हैं। उन्होंने बताया कि पर्यटन संवर्धन योजना के तहत ही बड़ी काली जी मन्दिर में मूलभूत सुविधाओं का पर्यटन विकास किया जा रहा है।वहीं मठ श्री बड़ी काली जी मन्दिर ट्रस्ट सदस्य नीरज तिवारी ने बताया कि बड़ी काली जी मन्दिर का इतिहास ढाई हजार साल पुराना है।

लखनऊ की सरजमीं पर आदि शक्ति का यह पहला मन्दिर है। इस मन्दिर को शंकराचार्य जी से भी जोड़कर देखा जाता है। उन्होंने बताया कि शंकराचार्य जी भी यहां आये थे, जिस काली मां को हम पूजते हैं वो असली में उमा-माहेश्वर की मूर्ति है। श्री तिवारी ने बताया कि यह बिहार के बोध गया घमण्डी मठ का भी मन्दिर है।

इस दौरान भाजपा नगर महामंत्री राम अवतार कनौजिया, पार्षद अनुराग मिश्रा, विशाल गुप्ता, अनूप सिंह, शालू टंडन, ऋषि कपूर, सुशील तिवारी, संजीत अवस्थी, अवधेश शुक्ला, सतीश द्विवेदी, जय आनंद, कमल अग्रवाल, जय प्रकाश गुप्ता, सुनीता वर्मा, क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी एवं काली मंदिर मठ की समिति के सदस्यगण अधिवक्ता विजय कुमार पाण्डेय, रमेश रस्तोगी, रामेन्द्र अवस्थी, राजा पाण्डेय उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

18 + nine =

Back to top button