यूपी के चुनावी मैदान का आखिरी दंगल, यूपी में 5 बजे तक 54.18 फीसदी वोटिंग

लखनऊ। यूपी में विधानसभा चुनाव का आज यानी सोमवार को अंतिम चरण है। सुबह से ही प्रदेश की जनता में काफी जोश और उत्साह देखने को मिल रहा है। यही वजह है कि सुबह तड़के साथ बजे से मतदान केन्द्रों पर भीड़ लगने लगी थी।

बता दें, आज यूपी के 9 जिलों में 54 विधानसभा सीटों के लिए मतदान किया जा रहा है। ऐसे में आज 613 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला ईवीएम में कैद होगा, जिसे करीब 2 करोड़ से अधिक मतदाता अपनी मुहर लगाकर पक्का करेंगे। वहीं अंतिम परिणाम 10 मार्च को सामने आएंगे।

खबरों के मुताबिक़ सातवें चरण का मतदान खत्म हो चुका है और यूपी में 5 बजे तक 54.18 फीसदी वोटिंग हुई। वहीं जिलेवार बात करें तो शाम पांच बजे तक चंदौली जिले में सबसे ज्यादा 59.59% मतदान हुआ। वहीं, सबसे कम 52.79 फीसदी मतदान वाराणसी जिले में हुआ। इससे पहले 3 बजे तक 46.40 फीसदी वोटिंग हुई। इसके अलावा 1 बजे तक 35.51 फीसदी वोटिंग हुई।

वहीं सुबह 11 बजे तक नौ जिलों में कुल 21.55 फीसदी वोटिंग हुई। अगर जिलेवार मतदान प्रतिशत की बात करें तो आजमगढ़- 20.06 प्रतिशत, भदोही- 22.26 प्रतिशत, चंदौली- 23.51 प्रतिशत, गाजीपुर- 20.05 प्रतिशत, जौनपुर- 21.83 प्रतिशत, मऊ- 24.69 प्रतिशत, मिर्जापुर- 23.46 प्रतिशत, सोनभद्र- 19.45 प्रतिशत और वाराणसी- 21.19 प्रतिशत मतदान हुआ।

इससे पहले सुबह 9 बजे तक करीब 8.58 फीसदी मतदान हुआ। खास यह है कि सातवें चरण में आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के साथ-साथ समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव के संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ में भी मतदान हो रहा है।

चुनाव के इस चरण में बीजेपी से समाजवादी पार्टी में शामिल होने वाले पूर्व मंत्री दारा सिंह चौहान, सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर, मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी, धनंजय सिंह की किस्मत दांव पर है।

गौरतलब है कि यूपी विधानसभा चुनाव के छह चरणों का मतदान पहले ही संपन्न हो चुका है। यूपी चुनाव के नतीजे 10 मार्च को आने हैं।

बता दें, यूपी में अंतिम चरण में जिन जिलों में मतदान हो रहा है, उनमें आजमगढ़, मऊ, जौनपुर, गाजीपुर, चंदौली, वाराणसी, मिर्जापुर, भदोही और सोनभद्र शामिल है। इस चरण में कुल 613 उम्मीदवार राज्य के 54 सीटों पर अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। इन सीटों में से 11 अनुसूचित जाति के लिए और दो अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित है। वहीं इस सीटों पर लगभग 2.06 करोड़ लोग वोट डालने के लिए पात्र हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

2 × five =

Back to top button