13 से अधिक बीमारियों से घिरे लालू… गिर रहा स्वास्थ्य, बस 15 प्रतिशत किडनी कर रही काम

नई दिल्ली। इन दिनों चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव की तबियत काफी बिगड़ी हुई है। बिहार की राजनीति में सालों तक अपना दबदबा बनाने वाले लालू आज जिंदगी की जंग लड़ रहे हैं। बताया जा रहा है कि बीते दिनों में उनकी तबियत इतनी बिगड़ गई है कि उनकी किडनी केवल 15 प्रतिशत ही काम कर रही है। उनका क्रिएटिनिन लेवल 25 प्रतिशत तक बढ़ गया है। इतना ही नहीं एक साथ करीब 13 से अधिक गंभीर बीमारियों से वे जूझ रहे हैं।

यही वजह है कि बीते रात उन्हें रिम्स से दिल्ली रेफर कर दिया गया था। वहीं जब उन्हें दिल्ली के एम्स में ले जाया गया तो उन्हें वहां एडमिट करने से इनकार कर दिया गया। मगर, बिगड़ी हुई हालत को देखते हुए उन्हें रातभर एम्स के इमरजेंसी वार्ड में रखा गया और सुबह 4 बजे डिस्चार्ज दे दिया गया।

मगर, डिस्चार्ज के बाद रास्ते में दोबारा उनकी तबीयत अचानक बिगड़ गई। इसके बाद उन्हें फिर एम्स ले जाया गया है। वहां पांच डाक्टरों की टीम उनकी जांच कर रही है।

बता दें, पिछले महीने, लालू यादव को रांची की सीबीई अदालत ने पांचवें चारा घोटाला मामले में 5 साल कैद की सजा सुनाई थी। डोरंडा कोषागार मामले में दोषी करार दिये जाने के बाद लालू यादव को सजा सुनाई गई थी। सीबीआई कोर्ट ने राजद सुप्रीमो पर 60 लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया था।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, लालू को रिम्स के डॉक्टरों से ही इलाज कराने की सलाह दी गई है। लालू यादव 13 से अधिक बीमारियों से जूझ रहे हैं।

लालू प्रसाद हृदय रोग, किडनी की बीमारी, किडनी में स्टोन, डाइबिटीज, ब्लड प्रेशर, तनाव, प्रोस्टेट का बढ़ना, यूरिक एसिड, थैलीसीमिया, ब्रेन से संबंधित बीमारी, कमजोर इम्युनिटी के अलावा दाहिने कंधे की हड्डी में परेशानी, पैर की हड्डी की समस्या और आंखों में परेशानी समेत अन्य बीमारियों से ग्रस्त हैं।

बताया जा रहा है कि राजद सुप्रीमो के स्वास्थ्य में तेजी से गिरावट आ रही है। उनकी किडनी 15 फीसदी क्षमता के साथ ही काम कर रही है। लालू यादव की ब्लड रिपोर्ट और हार्ट रिपोर्ट आने के बाद आनन-फानन में मेडिकल बोर्ड का गठन किया गया, जिसके बाद उन्हें दिल्ली एम्स रेफर करने का फैसला किया गया था।

रिम्स में उनका इलाज कर रहे डॉ. विद्यापति के मुताबिक, बिहार के पूर्व सीएम की किडनी पांचवें स्टेज में पहुंच चुकी है और इसके स्तर में लगातार गिरावट आ रही है। डॉ. विद्यापति ने बताया कि नेफ्रोलॉजिस्ट के अलावा हार्ट विशेषज्ञ डॉक्टरों की देखरेख में इलाज के लिए लालू यादव को दिल्ली स्थित एम्स भेजा गया। डॉ. विद्यापति ने बताया कि पिछले 15 दिनों में लालू यादव का क्रिएटिनिन लेवल 25 प्रतिशत तक बढ़ गया है, जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

eighteen − 12 =

Back to top button