जानें ऐसा क्या बोल गई साध्वी प्रज्ञा जो भड़क उठे लोग, जमकर किया ट्रोल

नई दिल्ली। राम नवमी और हनुमान जयंती पर हुई शोभायात्रा के बाद देश में एक बार फिर सामप्रदायिक हिंसा की आग पनपने लगी है। ऐसे में जहां सरकार एकजुटता की बात कर शान्ति का माहौल बनाने की बात कर रही है। वहीं इसी बीच भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा का एक विवादित बयान सामने आया है, जिस पर कई सोशल मीडिया यूजर्स ने अपनी-अपनी प्रतिक्रियाएं भी दी हैं। बता दें, साध्वी प्रज्ञा ने एक समुदाय विशेष को निशाने पर लेकर हिंसा फैलाने का आरोप लगाते हुए कहा कि उन्हें देश से बाहर चले जाना चाहिए।

खबरों के मुताबिक़ सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर का कहना है कि “स्वतंत्र भारत में धर्म के आधार पर उनके लिए एक देश बन चुका है तो वहां जाएं। इस देश में हिंदुओं को पूजा की स्वतंत्रता है, इसके लिए हम कुछ भी कर सकते हैं।”

साध्वी प्रज्ञा सिंह ने कहा है कि “हिन्दुओं की लड़कियों को बरगला कर ले जाना, धर्म परिवर्तन करवा देना, इसमें उनका पूरा समाज साथ दे रहा है। हम पूजा पाठ करते हैं तो हम पर हमला करते हैं। हम शोभायात्रा निकालते हैं तो हम पर हमला करते हैं। स्वतंत्र भारत में धर्म के आधार पर एक देश बन चुका है वो वहां चले जाएं, पर ये देश सनातनी है, सनातनी रहेगा। हिन्दुओं को पूजा पाठ करने का अधिकार है और रहेगा, इसके लिए हम कुछ भी कर सकते हैं।”

साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के इस बयान पर सोशल मीडिया पर लोग अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। सुमित नाम के यूजर ने लिखा कि ‘साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर जी, अगर मुस्लिम चले जाएंगे तो तुम लोगों का राजनीतिक रोटियां सेंकना बंद हो जाएगा, चुनाव जीतना भी मुश्किल हो जाएगा।’ मुकेश नाम के यूजर ने लिखा कि ‘इस कथन पर भी कोर्ट का संज्ञान लेना बनता है। ये सांसद होकर नागरिकों के एक वर्ग को देश छोड़ने के लिए कह रही हैं।’

शाहिदुर रहमान नाम के यूजर ने लिखा कि ‘इन पर बम ब्लास्ट करने का केस चल रहा है और ये खुद आतंक फैलाने की आरोपी हैं। ये दूसरे को बाहर भगाने की बात कर रही हैं, ये मैडम खुद क्यों नहीं नेपाल भाग जाती हैं हिन्दू राष्ट्र है नेपाल।’ अब्दुल्लाह अंसारी नाम के यूजर ने लिखा कि ‘ये देश धर्मनिरपेक्ष था, है और धर्मनिरपेक्ष रहेगा। जिनको धर्मनिरपेक्ष पसंद नहीं, खुद कहीं चले जाएं।’

सुजीत नाम के यूजर ने लिखा कि ‘ये तो जेल में रहने के ही लायक हैं, इनके जैसे साधु-संतो के कारण दंगे हो रहे हैं। इन लोगों ने साधु-संतो को बदनाम कर दिया है। जो सही में संत हैं, वो तो कभी राजनीति में नहीं आते, वो सिर्फ देश की भलाई के बारे में सोचते हैं।

खलील मोहम्मद नाम के यूजर ने लिखा कि ‘अभी तक तो पढ़ाया जा रहा था कि भारत एक लोकतांत्रिक देश है, अब खबर बताई जा रही है कि भारत एक सनातनी देश है।’

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

twenty − eighteen =

Back to top button