अपात्र… फिर भी ले रहे मुफ्त राशन के मजे तो जल्द करें सरेंडर, नहीं तो चलेगा सरकारी चाबुक

नई दिल्ली। कोरोना काल में गरीबी स्तर से नीचे आने वाले लोगों की आमदनी बाधित हुई थी, जिस कारण वे दो वक्त की रोटी का भी इंतजाम नहीं कर पा रहे थे। ऐसे में सरकार ने इन लोगों की समस्या को गंभीरता से लेते हुए मुफ्त राशन की व्यवस्था शुरू की थी, जो अभी भी दी जा रही है। मगर, इस बात की भी जानकारी सरकार को हुई है कि कुछ ऐसे भी लोग हैं, जो इस व्यवस्था के पात्र हैं और राशन कार्ड न होने के कारण सुविधा का लाभ नहीं उठा पा रहे हैं। वहीं यह भी सामने आया है कि कई ऐसे भी लोग हैं, जो अपात्र होने के बावजूद इस सुविधा का बढ़ चढ़ कर लाभ उठा रहे हैं।

सरल शब्दों में कहें तो ऐसे लोग, जो आर्थिक रूप से समृद्ध होने के बावजूद बीपीएल कार्ड धारक बने हुए हैं और फ्री राशन उठा रहे हैं। ऐसे लोगों पर जल्द ही सरकार का हंटर चलने वाला है।

खबरों के मुताबिक़ ऐसे राशन कार्ड धारक हैं, जो योग्‍य नहीं है और फ्री राशन का लाभ उठा रहे हैं। जबकि कई योग्‍य होकर भी राशन कार्ड न होने से इसका फायदा नहीं उठा पा रहे हैं।

अब इसी को लेकर क्षेत्र की ओर से अधिकारियों की ओर से चेतावनी दी जा रही है कि ऐसे लोग अपना राशन कार्ड तुरंत सरेंडर कर दें। नहीं तो जांच के बाद इनपर वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।

डीएसओ की ओर से जानकारी दी गई है कि जिनके पास 100 वर्ग मीटर से अधिक का प्लाट, फ्लैट या मकान, चार पहिया गाड़ी, ट्रैक्टर या एसी, हार्वेस्टर, पांच केवी या अधिक क्षमता का जनरेटर, एक से अधिक शस्त्र लाइसेंस, आयकरदाता, गांवों में दो लाख व शहर में तीन लाख सालाना से अधिक की परिवारिक आय है, ऐसे परिवार योजना के लिए अपात्र हैं। उन्‍हें अपना राशन कार्ड तहसील व डीएसओ कार्यालय में सरेंडर करना होगा।

अधिकारियों की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार, अगर सरेंडर नहीं किया जाता है तो ऐसे लोगों का राशन कार्ड जांच के बाद निरस्‍त कर दिया जाएगा। साथ ही परिवार पर वैधानिक कार्रवाई होगी। वहीं जब से वह राशन ले रहा है, तब से उससे राशन की वसूली भी होगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

sixteen − fifteen =

Back to top button