संसदीय दल की बैठक में मोदी की दो टूक, बोले- नहीं चलेगी वंशवाद की राजनीति

नई दिल्ली। मंगलवार को दिल्ली के अम्बेडकर भवन में भाजपा की संसदीय दल की बैठक हुई। इस बैठक में पीएम मोदी का जोरदार स्वागत हुआ। इस बैठक को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने मुख्य रूप से कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए कहा कि हम परिवारवाद और वंशवाद की राजनीति के सख्त खिलाफ है। उन्होंने कहा कि परिवाद पार्टियों को खोखला कर रहा है।

उन्होंने अपनी बातों को आगे बढ़ाते हुए कहा कि इसलिए सबसे पहले मैं अपनी पार्ट्री में से ही पारिवारवाद को ख़त्म करने के प्रयास में हूं।

हाल ही में हुए विधानसभा चुनावों में भाजपा सांसदों और विधायकों के परिवारिक लोगों के टिकट कटने पर बोलते हुए पीएम ने कहा कि इन चुनावों में जिसका भी तकत कटा है या नहीं मिला है, उसकी जिम्मेदारी मैं लेता हूं।

उन्होंने कहा कि हमें अगर परिवार्वादियों के खिलाफ डटकर खड़े रहना है तो शुरुआत अपनी पार्टी से ही करनी होगी।

संसदीय दल की बैठक में पीएम मोदी ने परिवारवाद को लोकतंत्र का सबसे बड़ा दुश्मन बताया। पीएम मोदी ने कहा कि हालिया चुनावी नतीजों ने साबित कर दिया कि ये परिवारवाद के खिलाफ जनादेश है।

ऐसे में उन्होंने सांसदों को संदेश दिया कि पार्टी में पारिवारिक राजनीति की अनुमति नहीं होगी, अन्य पार्टियों में वंशवाद की राजनीति के खिलाफ लड़ा जाएगा।

बता दें कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में प्रयागराज से बीजेपी सांसद रीता बहुगुणा जोशी अपने बेटे के लिए लखनऊ से टिकट की मांग कर रही थीं लेकिन उन्हें टिकट नहीं दिया गया था।

वहीं बैठक में युद्धग्रस्त यूक्रेन में गोलीबारी में मारे गए भारतीय छात्र नवीन शेखरप्पा और कर्नाटक में हिजाब विवाद के दौरान मारे गए बजरंग दल के कार्यकर्ता हर्ष को भी श्रद्धांजलि अर्पित की गई।

संसदीय दल की बैठक में पीएम मोदी ने कहा कि आजादी के बाद की प्रमुख घटनाओं, हस्तियों पर फिल्म बनना चाहिए, जैसे कश्मीर फाइल्स बनी है।

इससे लोगों को सच्चाई पता चलती है और ये समझ आता है कि किस घटना के लिए कौन जिम्मेदार था और उन लोगों के कारनामे लोगों के सामने भी आना चाहिए, अगर किसी ने कुछ गलत किया हो तो जिन्होंने अच्छा किए उसके बारे में भी लोगों को पता रहना चाहिए।

इसके अलावा भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के संसदीय दल ने चार राज्यों के विधानसभा चुनावों में जीत दर्ज कर सत्ता में वापसी करने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी अध्यक्ष जे पी नड्डा का जोरदार अभिनंदन किया।

वहीं संसदीय दल की बैठक की शुरुआत में महान गायिका लता मंगेशकर के सम्मान में दो मिनट का मौन रखा गया। मंगेशकर का छह फरवरी को निधन हो गया था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

1 × three =

Back to top button