जेहादी वीडियो से प्रेरित था मुर्तजा, धीरे-धीरे आतंकी कनेक्शन पर खुल रही परतें

गोरखपुर। गोरखपुर में गोरखनाथ मंदिर के बाहर पीएसी के दो जवानों पर धारदार हथियार से हमला करने वाले आरोपी अहमद मुर्तुजा अब्‍बासी को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया है। हमले के आरोपी की सात दिन की रिमांड कोर्ट ने एटीएस को दी है।

खबरों के अनुसार कल पूरी रात एटीएस ने किसी अज्ञात स्‍थान पर मुर्तुजा से पूछताछ की गई। मुर्तुजा से गोरखनाथ मठ में जाने, वहां ‘अल्‍लाहो अकबर’ के नारे लगाने और फिर धारदार हथियार से हमला कर देने की वजह पूछी गई। इसके साथ ही मुर्तुजा से उसके आतंकी कनेक्‍शन के बारे में भी कई सवाल किए गए।

इस हमले में अब तक जो बातें खुलकर सामने आ रही हैं, उसके मुताबिक मुर्तजा सिरफिरा या सनकी नहीं बल्कि शातिर है। वह आतंकी हमले के लिए तैयार था। उसके मोबाइल और लैपटॉप से मिले वीडियोज से पता चला है कि जेहादी वीडियो दिखाकर उसका ब्रैनवॉश किया गया था।

जानकारी के मुताबिक वह जाकिर नाईक लोन वुल्फ अटैक के वीडियो देखा करता था। अब इस मामले में एटीएस उसके मुंबई और नेपाल कनेक्शन की जांच कर रही है। इस बीच एटीएस ने महराजगंज जिले से दो संदिग्धों को भी उठाया है। साथ ही एटीएस की एक-एक टीम नेपाल और मुंबई भी रवाना हो गई है।

गौरतलब है कि गोरखपुर के गोरखनाथ मंदिर के दक्षिणी द्वार पर रविवार शाम एक युवक ने धार्मिक नारे लगाते हुए मंदिर में प्रवेश करने की कोशिश की और सुरक्षा में तैनात पीएसी के दो आरक्षियों को धारदार हथियार से घायल कर दिया। सुरक्षाकर्मियों द्वारा पकड़ने की कोशिश में वह व्यक्ति भी घायल हो गया। गोरखनाथ मंदिर नाथ संप्रदाय की सर्वोच्च पीठ है और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस पीठ के महंत हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

4 × five =

Back to top button