फागोत्सव : होली संगीत बैठकी के आठवें दिन ईश्वरधाम में जमकर बरसे फूल

लखनऊ। लोक संस्कृति शोध संस्थान के नौ दिवसीय फागोत्सव की आठवीं संध्या में लोगों ने जमकर फूलों की होली खेली। बुधवार को इन्दिरा नगर के सेक्टर आठ स्थित ईश्वरधाम मन्दिर परिसर में हुई होली संगीत बैठकी में जुटे हुरियारों ने देवी-देवताओं पर केन्द्रित होली गीतों की सरिता बहाई। ढोल मजीरा व ढोलक की थाप पर गीतों की गूंज और नृत्य के भाव ने मनमोहक दृश्य उपस्थित किया। संस्थान की संरक्षक शारदा पाण्डेय और अरुणा उपाध्याय ने अबीर गुलाल लगाकर आगन्तुकों का स्वागत किया।

कार्यक्रम का शुभारम्भ समवेत स्वर में फागुन मा होली खेलैं गणपति देवा से हुई। चित्रा जायसवाल ने होली का आया है त्यौहार बोलो राधे राधे, वरिष्ठ लोक गायिका रेखा मिश्रा ने होरी खेलत श्याम संग हारी रे, अरुणा उपाध्याय ने रंग डारो न कान्हा भीजत चुनरी, कुमकुम मिश्रा ने नैनन में पिचकारी दई मोरी गारी दई होरी खेलन न जाय, मोरा खोय गयो बाजूबन्द रसिया होरी में, शारदा पाण्डेय ने जरा अंखिया बचा के रंग डार मोहन मतवारे सुनाया।

रुपाली रंजन श्रीवास्तव ने शिव डारैं गुलाल गौरा के फागुन महिनवां में गाया तो गायिका आशा सिंह रावत, गीतकार सौरभ कमल, कलाकार रेखा मिश्रा समेत अन्य ने भाव नृत्य किये। वरिष्ठ गायिका एवं केजीएमयू नेत्र विभाग की पूर्व अध्यक्ष प्रो. विनीता सिंह रंजना शंकर व उषा पांडिया, भजन गायिका रीता पांडेय, गायिका अलका चतुर्वेदी, मीना मिश्रा, अंशु निगम, नम्रता मिश्रा, गीता सिंह, इन्द्रा सक्सेना, सुमति मिश्रा आदि ने भी होली का हुड़दंग दिखाया। गायक व संगीतकार शशांक शर्मा ने हारमोनियम, भजन गायक व कलाकार गौरव गुप्ता ने ढोलक तथा उदीयमान कलाकार सोहम मिश्रा ने तबले पर संगत की। कार्यक्रम में अवधी लोक संस्कृति के मर्मज्ञ डा. रामबहादुर मिश्र, विश्वम्भरनाथ अवस्थी उर्फ पप्पु भैया, सेवानिवृत बैंक अधिकारी अम्बुज अग्रवाल, डा. एस.के. गोपाल सहित अन्य मौजूद रहे।

गुरुवार को फागोत्सव का समापन

लोक संस्कृति शोध संस्थान की सचिव सुधा द्विवेदी ने बताया कि फागोत्सव के अन्तर्गत चल रही होली संगीत बैठकी का समापन गुरुवार को होगा। समाजसेवी राजेश राय के माल एवेन्यू स्थित आवास पर सायं पांच बजे हुरियारों की मण्डली होली का धमाल मचायेगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ten + four =

Back to top button