डा. नीरज बोरा ने जाना यूक्रेन में फंसे छात्रों के घरवालों का हाल, किया सुरक्षित घर लाने का वादा

लखनऊ। जहां बीते दिन यानी गुरुवार को देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में ‘ऑपरेशन गंगा’ के तहत यूक्रेन से वतन वापस लाए गए छात्रों से मुलाक़ात कर उनका हाल जाना। उसी कड़ी में आज शुक्रवार को लखनऊ उत्तर के भाजपा उम्मीदवार नीरज बोरा, जो इसी क्षेत्र के सिटिंग विधायक भी है, ने अपने क्षेत्र के उन परिवारों से बातचीत की, जिनके बच्चे यूक्रेन में फंसे हुए थे। इसी के साथ उन्होंने उन परिवारों का हाल भी लिया, जिनके बच्चे अभी भी यूक्रेन से वतन वापसी की राह देख रहे हैं।

खबरों के मुताबिक़ शुक्रवार को सुबह से ही लखनऊ उत्तरी क्षेत्र के भाजपा प्रत्याशी डा. नीरज बोरा यूक्रेन से वतन वापस आए बच्चों का हालचाल लेने के लिए क्षेत्र में निकल गए थे।

इसके तहत सबसे पहले उन्होंने पलटन छावनी के निवासी अनमोल सिंह से बातचीत की और यूक्रेन में मेडिकल की पढ़ाई करने गई उनकी बेटी काजल सिंह का हाल जाना। इस पर अनमोल सिंह ने बताया कि उनकी पुत्री काजल अब पूरी तरह से सुरक्षित है।

उन्होंने कहा कि बेशक यूक्रेन में बिगड़े हालातों के बीच उसे काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। मगर, वे आभारी हैं भारत सरकार के, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के, जिनके प्रभाव का असर रहा कि उनकी बेटी आज सही सलामत यूक्रेन से बाहर लाई जा चुकी है।

पिता अनमोल ने बताया कि मौजूदा समय में उनकी पुत्री हंगरी की राजधानी बुडापेस्ट में है, जहां से जल्द ही वह घर आ जाएगी।

दूसरी ओर लखनऊ के केशवनगर निवासी गंगा सागर पांडे से जब नीरज बोरा मिले, तो उन्होंने ने भी अपनी बेटी रितिका पांडे के सही सलामत होने की सूचना दी। उन्होंने बताया कि उनकी बेटी को भी सरकार ने सुरक्षित तरीके से यूक्रेन से बहार निकाल लिया है।

उन्होंने कहा कि वे भारत सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काफी आभारी है कि भारत सरकार यूक्रेन में फंसे अपने देश के बच्चों की चिंता कर रही है और प्राथमिकता के साथ उन्हें निकालने के लिए ‘ऑपरेशन गंगा’ को तेजी से चला रही है।

इसी कड़ी में नीरज बोरा एक ऐसे परिवार से भी मिले, जिनकी बेटी अभी भी यूक्रेन में फंसी हुई है। ऐसे में उन्होंने न केवल उनका हालचाल पूछा। बल्कि खुद फोन पर बबिता सिंह की बेटी आकांक्षा से बात कर विश्वास दिलाया कि वे स्वयं रक्षामंत्री राजनाथ सिंह से बात कर उसे सुरक्षित घर वापस लाएंगे।

इतना ही नहीं उन्होंने हाई कमान से बात कर आकांक्षा और उसके साथ फंसी अन्य छात्राओं के लिए खाने-पीने का बन्दोबस्त करने के साथ ही उचित व आवश्यक सामग्री भिजवाने का आश्वासन भी दिया।

वहीं इसके बाद नीरज बोरा ने तत्परता के साथ आकांक्षा की समस्या का समाधान निकालने के लिए रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के ओएसडी (ऑफिसर ऑन स्पेशल ड्यूटी) केपी सिंह से बात की और पूरे मामले से अवगत कराया। ताकि तवरित रूप से बबिता सिंह की बेटी को आवश्यक सुविधाएं मिल सकें और उसे जल्द से जल्द वतन वापस लाया जा सके।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

4 × two =

Back to top button