शपथ से पहले धामी का बड़ा ऐलान, बोले- सत्ता संभालते ही लाएंगे ‘यूनिफॉर्म सिविल कोड’

नई दिल्ली। हाल ही में हुए पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों में से भाजपा ने चार राज्यों में अपनी जीत का परचम लहराया। उन्ही राज्यों में से एक है, उत्तराखंड। काफी मंथन के बाद भाजपा के आलाकमान ने यहां सीएम की कुर्सी के लिए दोबारा पुष्कर सिंह धामी पर भरोसा जताया है। बता दें, इससे पहले दो बार से धामी ही उत्तराखंड के सीएम रहे हैं। ऐसे में आज देहरादून के परेड ग्राउंड में पुष्कर सिंह धामी उत्तराखंड के 12वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेंगे। हालांकि, शपथ से पहले ही उन्होंने बड़ा ऐलान करते हुए प्रदेश में यूनिफॉर्म सिविल कोड (समान नागरिक संहिता) लाने का ऐलान किया है।

खबरों के मुताबिक़ उत्तराखंड के मुख्यमंत्री के रूप में पुष्कर सिंह धामी की आज बुधवार को ताजपोशी होगी। शपथ ग्रहण से पहले पुष्कर सिंह धामी ने वादा किया है कि वह सीएम पद संभालने के बाद उन सभी वादों को पूरा करेंगे जो बीजेपी ने चुनाव से पहले किए थे, इसमें यूनिफॉर्म सिविल कोड भी शामिल है।

पुष्कर धामी ने वादा किया है कि वह पारदर्शी सरकार चलाएंगे और चुनाव से पहले बीजेपी ने जो भी वादे किए थे, उनको पूरा किया जाएगा। यूनिफॉर्म सिविल कोड (समान नागरिक संहिता) भी इनमें से एक है।

चुनाव से पहले धामी ने भी अपनी रैलियों में यूनिफॉर्म सिविल कोड का जिक्र किया था। उन्होंने कहा था कि कानून को तैयार करने के लिए वह कमेटी का गठन करेंगे, जिसमें कानूनी एक्सपर्ट, वरिष्ठ नागरिक और बुद्धिजीवी शामिल होंगे।

बता दें कि समान नागरिक संहिता यानी यूनिफॉर्म सिविल कोड का अर्थ होता है भारत में रहने वाले हर नागरिक के लिए एक समान कानून होगा, चाहे वह किसी भी धर्म या जाति का क्यों न हो। समान नागरिक संहिता में शादी, तलाक और जमीन-जायदाद के बंटवारे में सभी धर्मों के लिए एक ही कानून लागू होगा।

बता दें कि पुष्कर सिंह धामी के शपथ ग्रहण में आज पीएम नरेंद्र मोदी भी शामिल होंगे। इसके साथ-साथ BJP शासित राज्यों के कई सीएम भी इसमें हिस्सा लेंगे। देहरादून के परेड ग्राउंड में दोपहर 2:30 बजे पुष्कर सिंह धामी 12वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेंगे।

प्रधानमंत्री मोदी के अलावा इस कार्यक्रम में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी, हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर समेत भाजपा के कई वरिष्ठ नेता शामिल होंगे।

बता दें कि उत्तराखंड विधानसभा चुनाव 2022 में जीत दर्ज कर बीजेपी ने वापसी की लेकिन पुष्कर सिंह धामी खटीमा विधानसभा से चुनाव हार गए थे। बावजूद इसके बीजेपी ने उनपर भरोसा जताते हुए फिर से उनको ही सीएम बनाने का फैसला किया है।

धामी ने इस बात के लिए पार्टी और पीएम मोदी का आभार जताया था। उन्होंने कहा था कि सामान्य से पार्टी कार्यकर्ता पर इतना भरोसा जताने के लिए वह बीजेपी नेतृत्व का धन्यवाद करते हैं। धामी ने उत्तराखंड की जनता से वादा किया कि वह राज्य को 2025 तक अग्रणी राज्य बनाएंगे। तब राज्य के गठन को 25 साल पूरे हो जाएंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

four × one =

Back to top button