Delhi Budget 2022: मनीष सिसोदिया ने पेश किया ‘रोजगार’ बजट, 5 साल में 20 लाख नौकरियों का लक्ष्य

दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया आज यानि शनिवार को दिल्ली का बजट विधान सभा में पेश कर दिया है। इस बजट में केजरीवाल सरकार इस साल भी बजट में मुफ्त योजनाओं को जारी रखेगी। इसमें मुफ्त बिजली महिलाओं को बसों में फ्री सफर, फ्री पानी और वाई-फाई जैसी सुविधाएं शामिल हैं। बता दें कि मनीष सिसोदिया दिल्ली के बजट का लेखा-जोखा रेड टैब में लेकर विधानसभा पहुंचे हैं।

20 लाख नौकरियों का लक्ष्य

मनीष सिसोदिया ने बजट पेश करते हुए कहा कि पिछले साल AAP सरकार ने देशभक्ति बजट पेश किया था, इस बार का हमारा बजट रोजगार बजट है। मनीष सिसोदिया ने कहा कि सरकार का लक्ष्य अगले पांच साल में दिल्ली के लोगों को 20 लाख नौकरियां देने का टारगेट है।

उन्होंने कहा कि ये हमारे द्वारा पेश किया जा रहा आठवां बजट है, अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में आए 7 बजट से दिल्ली के स्कूल अच्छे हुए, बिजली मिल रही है, लोगों के ज़ीरो बिजली का बिल आ रहा है, मेट्रो का विस्तार हुआ है, सुविधा फेस लेस हुई हैं, अब लोगों को सरकारी दफ्तरों के चक्कर नहीं काटने पड़ते हैं।

75 हजार 800 करोड़ का है बजट

मनीष सिसोदिया ने कहा कि पिछले  7 साल में AAP सरकार ने 1 लाख  78 हजार युवाओं को सरकार  में पक्की नौकरी  दी है। जबकि उससे पहले की सरकार ने ज़ीरो नौकरियां दी थी। इस साल का बजट ‘रोजगार बजट’ है। उन्होंने कहा कि साल 2022-23 के लिए दिल्ली का बजट 75 हजार 800 करोड़ का है। ये 2014-15 के 30,940 करोड़ रुपए के बजट का ढाई गुना है। इस बजट में 6154 करोड़ रुपये स्थानीय निकायों के लिए दिए गए हैं।

स्टार्टअप पॉलिसी लेकर आ रही है दिल्ली सरकार

दिल्ली के डिप्टी सीएम ने कहा कि दिल्ली के रिटेल मार्केट को बढ़ावा देने के लिए सरकार दिल्ली शॉपिंग फेस्टिवल शुरू करने की घोषणा करती है। देश विदेश के ग्राहकों को दिल्ली में बुलाकर शॉपिंग के लिए प्रोत्साहित करने के लिए दिल्ली में शॉपिंग फेस्टिवल आयोजित किए जाएंगे। छोटे-छोटे स्थानीय बाजारों को ग्राहकों से जोड़ने के लिए दिल्ली बाजार पोर्टल शुरू करेंगे।

दिल्ली में इलेक्ट्रानिक सिटी बसाएगी सरकार

इसके अलावा दिल्ली सरकार स्टार्टअप पॉलिसी लेकर आ रही है। इस नई पॉलिसी के तहत नौकरी मांगने के लिए तैयार आबादी को नौकरी देने वाली आबादी में बदलना है। इसके अलावा दिल्ली में एक नया इलेक्ट्रानिक शहर बसाया जाएगा। उन्होंने कहा कि होल सेल के लिए दिल्ली होल सेल फेस्टिवल लगाएंगे, गांधी नगर मार्केट में नया हब बनेगा। उन्होंने कहा कि दिल्ली में अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव का भी आयोजन करेंगे।

ग्रीन टेक्नोलॉजी और ग्रीन जॉब पर जोर

मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली के इंडस्ट्रियल एरिया डेवलपमेंट करना है और पुनर्विकास करना है। दिल्ली में क्लाउड किचन को स्थापित करना है और नियमित करना है। डिप्टी सीएम ने कहा कि दिल्ली में ही व्हीकल सोलर एनर्जी, अर्बन फार्मिंग जैसी योजनाओं के प्रमोशन से ग्रीन टेक्नोलॉजी के लिए ग्रीन जॉब पैदा किए जाएंगे। दिल्ली फिल्म पॉलिसी के जरिए आर्ट और कल्चर से जुड़े कलाकार के लिए रोजगार के नए अवसर स्थापित करेंगे। रोजगार ढूंढने और रोजगार देने वालों को एक प्लेटफॉर्म पर लाने के लिए रोजगार बाजार 2।0 लाएंगे।

टैक्स कलेक्शन नहीं, जॉब देना है उद्देश्य

सिसोदिया ने कहा कि हमारा उद्देश्य टैक्स कलेक्शन नहीं बल्कि जॉब क्रिएट करना है। वर्तमान में दिल्ली के रिटेल बाजारों में करीब 3:50 लाख दुकानें हैं। ये दुकानें करीब 7:50 लाख लोगों को रोजगार देती हैं। दिल्ली सरकार स्थानीय मार्केट एसोसिएशन और दुकानदारों के साथ मिलकर बाजारों को डेवलप करेगी। पहले चरण में 5 बाजारों के साथ शुरुआत की जाएगी। इसके लिए 100 करोड रुपए का प्रावधान किया गया है। इससे 5 साल के अंदर डेढ़ लाख नई नौकरियां पैदा हो सकती हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

5 × 1 =

Back to top button