‘दारुल उलूम आतंकियों की जननी, इनके परिसर में ही बनाए जाएं ATS सेंटर’

नई दिल्ली। हाल ही में फर्जी दस्तावेजों के आधार पर ATS ने सहारनपुर के दारुल उलूम देवबंद से बाग्लादेशी छात्र तलहा को गिरफ्तार किया था। अब ताजा मामले में इस प्रकरण को उठाते हुए बजरंग दल के प्रांत संयोजक विकास त्यागी ने दारुल उलूम पर ताला लगाने की मांग की है। विकास त्यागी का कहना है कि दारुल उलूम और मदरसे आतंकियों की फैक्ट्री हैं। इन जगहों पर आतंकी भरे पड़े हुए हैं। ऐसे में सेना और सुरक्षा एजेंसियों को इन जगहों पर सर्च ऑपरेशन चलाने ठोस कार्रवाई करनी चाहिए।

खबरों के मुताबिक़ विकास त्यागी ने आरोप लगाया है कि दारुल उलूम और मदरसों में आतंकी भरे पड़े हैं। इतना ही नहीं प्रांत संयोजक विकास त्यागी ने वीडियो जारी कर देशभर के मदरसों को आतंकवाद की जननी करार दिया है।

उनका कहना है कि इस्लामिक शिक्षण संस्थान दारुल उलूम में धार्मिक कम आतंकी शिक्षा ज्यादा दी जा रही है। सरकार को चाहिए कि दारुल उलूम के भीतर ही ATS सेंटर बनाए और सेना को लेकर पूरे कैंपस की तलाश ली जाए। जिससे बड़ा खुलासा हो सकता है।

विकास त्यागी ने कहा कि देवबंद से आतंकी कनेक्शन एक बार की बात नहीं है, बल्कि कई बार यहां से संदिग्धों और आतंकियों को पकड़ा जा चुका है। उन्होंने सवाल उठाया है कि बांग्लादेशी छात्र इतने लंबे समय से दारुल उलूम में रह रहा था, वह किसके संरक्षण में रह रहा था?

उनका कहना है कि जो शरण देता है वह भी उतना ही दोषी होता है। इसलिए संरक्षण देने वालों के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए।

त्यागी ने सीएम योगी आदित्यनाथ से मांग की है कि जो एटीएस सेंटर नगर में अन्य जगहों पर बन रहा है, उसे दारुल उलूम परिसर में बनाया जाना चाहिए। इससे इन लोगों पर और कड़ी नजर रखी जा सकेगी। हर मदरसों में संदिग्ध भरे पड़े हैं, इसलिए दारुल उलूम सहित सभी क्षेत्र के मदरसों में खुफिया एजेंसियों को सेना के साथ मिलकर सर्च ऑपरेशन चलाना चाहिए। क्षेत्र में चल रहे अवैध मदरसों पर कड़ी कार्रवाई किए जाने की मांग मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से की है। ATS ने फर्जी दस्तावेजों पर देवबंद में रह रहे बांग्लादेशी छात्र तलहा को 27 अप्रैल को गिरफ्तार किया था। इसके बाद देवबंद समेत जिले भर में खलबली मच गई थी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

2 + 12 =

Back to top button