‘अहमदाबाद ब्लास्ट’ से सपा कनेक्शन बता बोले योगी- आतंकियों का हिमायती चाहिए क्या?

लखनऊ: अहमदाबाद सीरियल ब्लास्ट मामले में स्पेशल कोर्ट ने बीते दिन 49 में से 38 दोषियों को फांसी की सजा सुना दी है। ब्लास्ट मामले में शुक्रवार को आयोजित एक सभा में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने समाजवादी पार्टी पर जमकर हमला बोला।

उन्होंने कहा कि इस ब्लास्ट में आजमगढ़ के संजरपुर के एक आंतकी मोहम्मद सैफ को भी न्यायालय ने मौत की सजा दी है। इस आतंकी के पिता के समाजवादी पार्टी से संबंध हैं और वह सपा का प्रचार कर रहा है।

सीएम योगी ने कहा कि आज मैनपुरी के करहल से आते समय अहमदाबाद के सीरियल ब्लास्ट पर आए न्यायालय के आदेश की जानकारी मिली। इसमें आजमगढ़ के संजरपुर का भी एक आतंकी है, जिसके पिता के संबंध सपा से हैं। अब मतदाताओं को तय करना है कि उन्हें आतंकियों से संवेदना जताने वाले, उनके हितचिंतक, उन पर सबकुछ न्योछावर करने वालों को जिताना है या अपने स्वाभिमान और सुरक्षा के लिए भाजपा को जिताना है।

योगी ने कहा कि विकास की पहली शर्त सुरक्षा है। हमने सुरक्षा की गारंटी दी है। इसीलिए पांच वर्ष किसी की प्रदेश में दंगा करने की हिम्मत नहीं हुई जबकि पहले हर तीसरे दिन दंगा होता था। आज सभी को मालूम है कि दंगा करेंगे तो 24 घंटे में फोटो लग जाएगी और वसूली का नोटिस पहुंच जाएगा।

कोरोना काल पर उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अच्छे प्रबंधन के जरिए इस पर नियंत्रण कर लिया लेकिन जातिवादी नेताओं को कंट्रोल करने का काम आपका होना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब उन्होंने उत्तर प्रदेश को संभाला तो देखा कि यहां से ज्यादा पैसा किसी राज्य के पास नहीं है। तब यह भी सोचा गया कि इतना धन आखिर चला कहां जाता था, इस पर पता चला कि यह पैसा अखिलेश के इत्र वाले मित्र के घर जाता था।

उन्होंने कहा कि गुंडों, बदमाशों व माफिया पर कार्रवाई के लिए एक यंत्र बनाया जिसे बुलडोजर नाम दिया। अब एक हाथ में विकास की छड़ी है और दूसरे हाथ में बुलडोजर का स्टीयरिंग। उन्होंने कहा कि 2023 में अयोध्या के मंदिर में रामलला विराजमान होंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

3 × two =

Back to top button