सीएम योगी का आदेश, चार दिन लखनऊ और तीन दिन जिलों में रहेंगे मंत्री

लखनऊ। योगी सरकार 2.0 में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित सभी मंत्री (टीम यूपी) फुल फॉर्म में हैं। लोक कल्याण के लक्ष्य को लेकर शासन स्तर पर अगले पांच साल तक की रणनीति बनाई गई है और उसी को अमलीजामा पहनाया जा रहा है। अब टीम यूपी लोक कल्याण के संकल्प के साथ ग्राउंड जीरो पर उतरेगी। इसके लिए शासन स्तर पर रूपरेखा तैयार कर ली गई है। जल्द ही इसे अमल में लाया जाएगा। इस बाबत सीएम योगी ने सभी मंत्रियों को निर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री योगी ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि योजनाओं के क्रियान्वयन में अधिक से अधिक रोजगार सृजन पर फोकस करें। साथ ही विभागीय कार्यों, योजनाओं में और बेहतर करने का प्रयास करें। मुख्यमंत्री की ओर से मंत्रियों के लिए दिनवार एजेंडा तय किया गया है। मंत्री सप्ताह में चार दिन सोमवार, मंगलवार, बुधवार और गुरुवार को लखनऊ में रहेंगे।

लखनऊ में सोमवार को मंत्री जनसमस्याओं के निस्तारण के लिए अपने दफ्तरों में शासकीय कार्यों के साथ जनसुनवाई करेंगे। मंगलवार को कैबिनेट की सम्भावित बैठक और जनप्रतिनिधियों से भी मुलाकात करेंगे। मंगलवार या बुधवार को शासन की ओर से गठित कमेटियों की होने वाली बैठकों में शामिल होंगे। साथ ही शुक्रवार, शनिवार, रविवार को जिलों में और प्रभारी जिलों में रात्रि प्रवास करेंगे।

अगले पांच साल का खाका तैयार

राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने गुरुवार को बताया कि योगी 2.0 में शपथ ग्रहण हुए अभी एक महीने भी नहीं बीते हैं और सीएम योगी ने सभी विभागों से सौ दिन, छह महीने और पांच सालों का प्लान मांग लिया है। मुख्यमंत्री के निर्देश पर विभागों ने प्रजेंटेशन भी देना शुरू कर दिया है। सीएम योगी और सभी मंत्रियों के सामने 13 अप्रैल को कृषि विभाग ने करीब ढाई घंटे तक प्रजेंटेशन का प्रस्तुतिकरण दिया है। 15 अप्रैल को अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास, 16 को समाज कल्याण विभाग और 19 को स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, चिकित्सा शिक्षा विभाग प्रजेंटेशन देगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

6 + twenty =

Back to top button